Articles worth reading

28 अक्टूबर अप्लाय करने की लास्ट डेट

इस जॉब पोर्टल का लिंक आईसीएआई की ऑफीशियल

स्कूल

12वीं के बाद स्पोर्ट्स में खेलें या खिलाएं, इन डिफरेंट जोन में करें कॅरियर को रिफॉर्म

स्पोर्ट्स में मैदान के बाहर कॅरियर बनाने के लिए हर स्पोर्ट का डीप नॉलेज होना जरूरी है। इसके बाद किसी इंस्टीट्यूट से डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स कर सकते हैं।

12वीं के बाद कॅरियर या सबजेक्ट, स्विच करने से पहले खुद को करें स्ट्रॉन्ग

स्ट्रीम और जॉब दोनों ही बदलने से पहले कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना होता है। ताकि बदलाव के बाद पॉजीटिव थिकिंग के साथ काम किया जा सके।

12th के बाद डिजीटल वर्ल्ड में कदम रखने से पहले हासिल करें ये स्किल

क्म्प्यूटर में डिग्री और डिप्लोमा कोर्सेस के अलावा कुछ कोर्स स्किल डेवलपमेंट के लिए भी होते हैं। जिन्हें करने के बाद स्टूडेंट्स डिजीटल वर्ल्ड में अलग मुकाम बना सकते हैं।

12वीं के बाद भी हैं कॅरियर बनाने के ढेर सारे ऑप्शन, इन कोर्सेस के लिए करें अप्लाई

12th के बाद साइंस स्टूडेंट अगर किसी और फील्ड में जाना चाहते हैं तो उनके लिए कई सारे ऑप्शन होते हैं। जो फील्ड चेंज करने के बाद भी मददगार होते हैं।

12th के बाद ग्रेजुएशन के साथ करें 5 क्रैश कोर्स अट्रैक्टिव पर्सनैलिटी बनेगी प्लस पॉइंट

ग्रेजुशन के साथ किए जा सकने वाले ये शॉर्ट टर्म कोर्स पर्सनैलिटी को ग्रूम करते हैं। साथ ही भीड़ में एक अलग पहचान भी दिला सकते हैं।

12th के बाद क्राउड फंडिंग बनेगा स्टार्ट अप्स का इनकम सोर्स

12th के बाद स्टडी नहीं करना चाहते हैं तब भी कॅरियर को स्टार्ट अप के जरिए बनाया जा सकता है। स्टार्ट अप के लिए फंड रेज करने भी परेशान नहीं होना पड़ेगा।

NET 2018: जेआरएफ के लिए दो साल बढ़ी एज लिमिट

असिस्टेंट प्रोफेसर और जूनियर रिसर्च फेलोशिप (जेआरएफ) की पात्रता के लिए सीबीएसई द्वारा आयोजित यूजीसी नेट के लिए ऑनलाइन आवेदन की लास्‍ट डेट 5 अप्रैल है।

योग से लोगों की सेहत बनाकर आप कर सकते हैं कमाई

कई संस्थान योग में अलग-अलग कोर्स कराते हैं। ये कोर्स सर्टिफिकेट से लेकर पीएचडी तक होते हैं। दसवीं या बारहवीं कक्षा के बाद भी योग से जुड़े कई सर्टिफिकेट कोर्स हैं। 

12th के बाद अपनाएं 5 बेस्ट जॉब ऑप्शन, कॉलेज से पहले ही शुरू हो जाएगी इनकम

12th के बाद कम समय में करें ये 5 सस्ते कोर्स। ये कोर्स हजारों रुपए महीने कमाने में हैल्पफुल तो हैं ही, साथ ही लर्निंग प्लस अर्निंग का आसान जरिया भी हैं।