UPSC Prelims 2018: एग्जाम से पहले वो सब बातें, जो जानना जरूरी है

इस एग्जाम के जरिए IAS, IFS और IPS ऑफिसर को शॉर्टलिस्ट किया जाता है।

एजुकेशन डेस्क। यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (यूपीएससी) ने 2018 में होने वाली सिविल सर्विसेस प्रीलिम्स एग्जाम का एग्जाम 3 जून को देशभर में कंडक्ट कराया जाएगा। इस एग्जाम के जरिए IAS, IFS और IPS ऑफिसर को शॉर्टलिस्ट किया जाता है। यूपीएससी की सिविल सर्विस एग्जाम तीन स्टेज में होती है। पहली स्टेज पर प्रीलिम्स एग्जाम , फिर मेन्स और फिर इंटरव्यू के जरिए कैंडिडेट्स का सिलेक्शन विभिन्न पदों के लिए किया जाता है। 

 

ऐसे होता है सिविल सर्विसेस में सिलेक्शन
- एग्जाम में तीन स्टेज से गुजरना होता है। 
- पहली स्टेज में प्रीलिम्स एग्जाम लिया जाता है, जिसमें ऑब्जेक्टिव के पैटर्न में सवाल पूछे जाते हैं। जो कैंडिडेट इस एग्जाम को क्लियर करता है वे मेन्स एग्जाम के लिए क्वालीफाई होते हैं। 
- दूसरी स्टेज में मैन्स का पेपर लिया जाता है, जो रिटन फॉर्म में होता है। इसे क्लियर करने वाले तीसरी स्टेज के लिए क्वालिफाय होते हैं। 
- तीसरी स्टेज में कैंडिडेट को इंटरव्यू की प्रोसेस से गुजरना होता हैं। जो कैंडिडेट इन तीनों स्टेजों को क्लियर करता है। वे वीभिन्न पदों के लिए मार्क्स के हिसाब से सिलेक्ट होता है। 

 

प्रीलिम्स एग्जाम
- प्रीलिम्स एग्जाम में ऑब्जेक्टिव के दो पेपर होते हैं। इसमें कैंडिडेट को दानों पेपर को मिलाकर 400 मार्क्स में से ज्यादा से ज्यादा स्कोर करना होते हैं।    
- यह एग्जाम केवल स्क्रीनिंग टेस्ट के रूप में ली जाती है। इस एग्जाम के मार्क्स मेन्स  के लिए क्वालीफाई  कैंडिडेट में नहीं जोड़े जाते हैं। 
- पेपर में दिए हुए सवालों के गलत जवाब देने पर नेगेटिव मार्किंग भी हाती है। 

 

मेन्स एग्जाम 
- यूपीएससी की सिविल सर्विस एग्जाम में एक कैंडिडेट्स की रैंकिंग मेन्स और इंटरव्यू एग्जाम के टोटल मार्क्स पर निर्भर करती है। इंटरव्यू के कुल मार्क्स 275 हैं, जबकि मेन्स परीक्षा के 1750। 
- लिखित परीक्षा मेन्स में कुल 9 पेपर होते हैं। लेकिन उनमें से केवल 7 पेपर के मार्क्स अंतिम मेरिट रैंकिंग के लिए जोड़े जाएगें। बाकी दो सिर्फ क्वालीफाइंग पेपर होंगे। 

 

एग्जाम देने जाने से पहले याद रखें ये बातें
- ये एग्जाम दो शिफ्ट में होगा। पहली शिफ्ट सुबह 9:30 से शुरू होगी। वहीं दूसरी शिफ्ट का एग्जाम 2:30 बजे से शुरू होगा। 
- एग्जाम स्टार्ट होने से 10 मिनिट पहले एग्जाम सेंटर का गेट बंद हो जाएगा। लेट होने पर कैंडिडेट्स को एग्जाम हॉल में एंट्री नहीं दी जाएगी।
- एग्जाम में ओएमआर शीट और अटेंडेंस शीट को ब्लैक पेन से भरना अनिवार्य है। यूपीएससी ने ब्लैक पेन के अलावा किसी भी प्रकार की लिखने के चीजों पर पाबंदी लगा रखी है। 
- कैंडिडेट्स को अगर एग्जाम पेपर के प्रश्नों में कोई भी परेशानी होती है तो वे यूपीएससी की ऑफिशियल वेबसाइट upsconline.nic.in पर जाकर 4 से 10 जून तक अपनी एग्जाम प्रश्न संबंधित परेशानी बता सकते हैं। 
- कैंडिडेट्स को किसी भी प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस, मोबाइल फोन, बैग जैसी चीजों को लकर जाने की मनाही है। 

 

ऐसे कर सकते हैं एडमिट कार्ड डाउनलोड

- एडमिट कार्ड डाउनलोड करने के लिए सबसे पहले कमीशन की ऑफिशियल वेबसाइट upsc.gov.in या upsconline.nic.in पर जाएं।
- यहां होमपेज पर 'ई-एडमिट कार्ड' का नया सेक्शन दिखाई देगा, इस पर क्लिक करें।
- इसके बाद कैंडिडेट्स अपना रजिस्ट्रेशन नंबर डालना होगा। यहां से कैंडिडेट्स अपना एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।

Next News

UPSC Prelims 2018: 3 जून को एग्जाम, क्रैक करने के लिए काम आएंगे ये 10 टिप्स

इस एग्जाम के जरिए IAS, IFS और IPS ऑफिसर को शॉर्टलिस्ट किया जाता है।

UPSC Prelims 2018: पेपर रहे टफ, 1 पद पर 383 कैंडिडेट्स दावेदार

यह एग्जाम केवल स्क्रीनिंग टेस्ट के रूप में ली जाती है। इस एग्जाम के मार्क्स मेन्स के लिए क्वालीफाई कैंडिडेट में नहीं जोड़े जाते हैं।

Array ( )