आंकड़ों में समझें कैसे अलग रहा इस साल का सीबीएसई 10th का रिजल्ट

पिछले साल के तुलना में इस साल का रिजल्ट का पासिंग परसेंटेज 86.70% रहा जो पिछले साल के तुलना में 4.25% कम है।

एजुकेशन डेस्क। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) मंगलवार को 10वीं क्लास का रिजल्ट घोषित कर दिया है। पिछले साल के तुलना में इस साल का रिजल्ट का पासिंग परसेंटेज 86.70% रहा जो पिछले साल के तुलना में 4.25% कम है।
इसके साथ ही लड़कियों ने इस साल बाजी मारी जबकि 2017 में लड़के 93.04% के साथ आगे थे। इस साल टॉप-3 रैंक पर भी कड़ा मुकाबला देखने को मिला, ऑल इंडिया टॉप-3 रैंक पर 25 स्टूडेंट्स ने अपनी जगह बनाई। 
ऐसे ही कुछ आंकड़े जो आपको बताएंगे कि इस साल का रिजल्ट, पिछले साल के रिजल्ट से किस तरह अलग रहा।

 

यह रहें इस साल के टॉपर्स

पहला स्थान
1. प्रखर मित्तल- डीपीएस, गुड़गांव- 500 में से 499
2. रिमझिम अग्रवाल- आरपी पब्लिक स्कूल, बिजनौर (यूपी)- 500 में से 499
3. नंदिनी गर्ग - स्कोटिश इंटरनेशनल स्कूल, शामली (यूपी)- 500 में से 499
4. श्रीलक्ष्मी जी - भवन विद्यालय, कोच्चि- 500 में से 499

 

दूसरा स्थान

1. ऋतिका सरकार - डीपीएस गुड़गांव - 500 में से 498 अंक
2. श्रेष्ठा शर्मा - डीपीएस, सोनीपत (हरियाणा) - 500 में से 498 अंक
3. अक्षत वर्मा - एसडी पब्लिक स्कूल, मुज्जफरनगर (यूपी) - 500 में से 498 अंक
4. अंशिका गुप्ता - एमिटी इंटरनेशनल स्कूल, नोएडा (यूपी) - 500 में से 498 अंक
5. अंचित जैन - एमिटी इंटरनेशनल स्कूल, नोएडा (यूपी) - 500 में से 498 अंक
6. थेरेसा सोनी- क्रिस्टू जयंथी पब्लिक स्कूल, कोच्चि- 500 में से 498 अंक
7. साक्षी भांगदिकर - ब्रिलियंट पब्लिक स्कूल, बिलासपुर, छत्तीसगढ़ - 500 में से 498 अंक

 

तीसरा स्थान

1. तरनप्रीत कौर - ब्रोडवे पब्लिस स्कूल - संगरूर, पंजाब - 500 में से 497 अंक
2. लक्ष्य चावला - डीएवी पब्लिक स्कूल - गुड़गांव - 500 में से 497 अंक
3. अर्पणा - डीएलएफ पब्लिक स्कूल, राजेन्द्र नगर, गाजियाबाद, यूपी - 500 में से 497 अंक
4. अनुष्का पांडेय- बाल भारती पब्लिक स्कूल, नोएडा - 500 में से 497 अंक
5. शाहिस्ता सादफ- आर्मी स्कूल, रानीखेत, उत्तराखंड- 500 में से 497 अंक
6. खुशी अग्रवाल - ब्रह्मा देवी मंदिर स्कूल, हापुड़ (यूपी) - 500 में से 497 अंक
7. आयुष गुप्ता - इंदिरा पुरम पब्लिक स्कूल, गाजियाबाद - 500 में से 497 अंक
8. स्निग्धा बासु- विश्व भारती पब्लिक स्कूल, नोएडा - 500 में से 497 अंक
9. मिष्ठी सिंघल - डीपीएस, मेरठ रोड, गाजियाबाद - 500 में से 497 अंक
10. एल गोकुलनाथ, सोमरविले स्कूल, नोएडा - 500 में से 497 अंक
11. अम्मू मरिअम अनिल, राजागिरी पब्लिक स्कूल, एर्नाकुलम, केरल- 500 में से 497 अंक
12. साक्षी महेश्वरी - कृष्णा पब्लिक स्कूल, दुर्ग, छत्तीसगढ़ - 500 में से 497 अंक
13. धारानी गोविंदास्वामी- महाऋषि विद्या मंदिर, चेन्नई  - 500 में से 497 अंक
14. अदिश शाह - विकास द कॉन्सेप्ट स्कूल, हैदराबाद, तमिलनाडु - 500 में से 497 अंक

 

इस साल के आंकड़े

- 92.55% रहा दिव्यांग स्टूडेंट्स का पासिंग परसेंटेज
- दिव्यांग वर्ग में गाजियाबाद की सान्या गांधी के भी 489 नंबर आए
- दिव्यांग वर्ग में गुरुग्राम की अनुष्का पांडा ने मारी बाजी, 489 नंबर के साथ रहीं टॉप पर
- ओवरऑल पासिंग परसेंटेज 86.70% रहा, जो पिछले साल से 4.25% कम है।
- इस साल 88.67% लड़कियां और 85.32 लड़कों पास हुए।
- 95% मार्क्स वाले 27,476 स्टूडेंट्स रहे।
- 90% मार्क्स पाना वाले 1,31,493 स्टूडेंट्स रहे।
- 99.60% के साथ तिरुवनंतपुरम का सक्सेस रेट रहा देश में सबसे ज्यादा 
- चेन्नई 97.37% के साथ फिर से दूसरे स्थान पर रहा। पिछले साल भी 99.62% के साथ दूसरे स्थान पर था।
- इस साल नवोदय विद्यालय 97.31% के साथ टॉप पर रहा।
- इस साल सरकारी स्कूलों का सक्सेस रेट 63.97% रहा।
- इस साल टॉप 3 में 25 स्टूडेंट्स आए, जिसमें पहले स्थान पर 4, दूसरे स्थान पर 7 और तीसरे स्थान पर 14 स्टूडेंट्स रहे।
- 11.45 फीसदी बच्चों की कंपार्टमेंट आई

 

इंस्टीट्यूट वाइस परफॉर्मेंस

1. नवोदय विद्यायल 97.31%
2. केंद्रीय विद्यायल 95.86%
3. प्रायवेट स्कूल 89.49%
4. सरकारी स्कूल 63.97%
5. सरकारी अनुदान प्राप्त स्कूल 73.46
6. फॉरेन स्कूल 98.32%
7. दिल्ली रीजन 78.62% स्टूडेंट्स पास
8. 27,476 स्टूडेट्स के 95%
9. 1,31,493 स्टूडेंट्स के 90%

 

टॉप-3 रीजन

तिरुवनंतपुरम 99.60%
चेन्नई 97.37%
अजमेर 91.86%

 

लगातार तीसरे साल गिरा पासिंग परसेंटेज

- इस साल ओवरऑल पासिंग परसेंटेज 86.70% रहा, जो पिछले साल से 4.25% कम है। ये लगातार तीसरा साल है, जब 10वीं क्लास का पासिंग परसेंटेज गिरा है।
- 2017 में पासिंग परसेंटेज जहां 90.95% रहा था, वहीं 2016 में 96.21% स्टूडेंट्स पास हुए थे। जबकि 2015 में 98.64% स्टूडेंट्स पास हुए थे।



 

पिछले साल ऐसा रहा था 10वीं का रिजल्ट

- पिछले साल 10वीं में 16,67,573 स्टूडेंट्स शामिल हुए थे। पिछले साल का ओवरऑल पासिंग परसेंटेज 90.95% रहा था।
- 2017 में लड़कों का पासिंग परसेंटेज 93.04% रहा था, जबकि लड़कियों का 92.05% रहा था।
- वहीं 2016 में 96.21% स्टूडेंट्स पास हुए थे। इनमें से 96.36% लड़कियां और 96.11% लड़के पास हुए थे।

 

पिछले साल के आंकड़े

- पिछले साल 16,67,573 स्टूडेंट्स एग्जाम में शामिल हुए थे।
- साल 2017 का 90.95% पासिंग परसेंटेज था। जिसमें 93.04% लड़के और लड़कियां 92.05% पास हुए थे।
- साल 2016 में पासिंग परसेंटेज 96.21% था।
- साल 2014 में पासिंग परसेंटेज 98.87% था।
- साल 2017 में 16,347 ,स्कूलों के बच्चों में एग्जाम में भाग लिया था।
- साल 2017 में 3,972 एग्जाम सेंटर्स बनाए गए थे।
- साल 2017 में दिव्यांग स्टूडेंट्स का पासिंग परसेंटेज 89.40 रहा था।
- साल 2017 में 1,05,188 लड़कों ने सीजीएपी 10 रही जबकि लड़कियों की संख्या 1,00,950 रही।
- पिछला साल लड़के , लड़कियों से 0.9% आगे रही। जबकि 2016 में लड़कियां लगभग 10% आगे रही।
- दिल्ली के सरकारी स्कूलों का पासिंग परसेंटेज 92.44% रहा, जो 2016 से 3.19% ज्यादा है।

 

2017 में यह था रीजन वाइस पासिंग परसेंटेज
त्रिवेंद्रम: 99.85
मद्रास: 99.62
चेन्नई: 99.62
इलाहाबाद: 98.23
देहरादून: 97.27
पटना: 95.50
चंडीगढ़: 94.34
अजमेर: 93.30
भुवनेश्वर: 92.15
दिल्ली: 78.09
गुवाहाटी: 65.53

 

कहां रहा था सबसे ज्यादा पासिंग परसेंटेज (टॉप-3)
त्रिवेंद्रम 99.85%
चेन्नई 99.62%
इलाहबाद 98.23%

 

पिछलें 5 साल में ऐसा रहा रिजल्ट

साल ओवर ऑल  पासिंग परसेंटेज लड़के%  लड़कियां% कुल स्टूडेंट्स
2013 97.86 97.16 97.50 6,99,235
2014 98.19 97.98 98.48 7,41,863
2015 98.76 98.64 98.94 7,91,297
2016 96.21 96.11 96.36 14,91,293
2017 90.95 93.04 92.05 16,67,573
2018 86.70 85.32 88.67 16,38,428

 

ऐसे चेक करें अपना रिजल्ट

- सबसे पहले बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट cbse.nic.in या cbseresults.nic.in पर जाएं।

- यहां पर 10वीं बोर्ड रिजल्ट की लिंक पर क्लिक करें।
- इसके बाद एडमिट कार्ड पर दिए गए रोल नंबर, स्कूल नंबर और सेंटर नंबर डालकर सबमिट करें।
- सबमिट करते ही रिजल्ट ओपन हो जाएगा। स्टूडेंट्स फ्यूचर रेफरेंस के लिए प्रिंट आउट भी ले सकते हैं।

5 मार्च से 4 अप्रैल तक हुए थे 10वीं ​के एग्जाम

- इस साल 10वीं बोर्ड के एग्जाम 5 मार्च से शुरू हुए थे, जो 4 अप्रैल तक चले थे।
- इस साल 16,38,428 स्टूडेंट्स बोर्ड एग्जाम में शामिल हुए थे।

ऑफिशियल वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें

Next News

CBSE 10th के रिजल्ट के बाद ऐसे समझें CGPA ग्रेड का पूरा गणित

पिछले कुछ सालों से बोर्ड स्टूडेंट्स का मूल्यांकन ग्रेडिंग सिस्टम से कर रहा है। जिसमें स्टूडेंट्स को A1 से E ग्रेड तक दी जाती है।

सीबीएसई 10th का तीसरे साल भी गिरा पासिंग परसेंटेज, जानें 10 बड़ी बातें

इस साल 10वीं बोर्ड में टॉप-3 पोजिशन पर 25 स्टूडेंट्स हैं, जिनमें से 17 लड़कियां हैं।

Array ( )