Articles worth reading

नीट मेडिकल और डेंटल एंट्रेंस एग्जाम

यह परीक्षा 30 अप्रैल, 2018 को यमुनानगर

कैंडिडेट्स का सिलेक्शन मेरिट के आधार

UGC: एडमिशन कैंसिल कराने पर स्टूडेंट्स की फीस होगी वापस

यूजीसी की नई गाइडलाइन जारी। 

एजुकेशन डेस्क। मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुधवार को कॉलेज एडमिशन के दौरान होने वाली छात्रों की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए दो अहम फैसले लिए है। जिसके मुताबिक, अगर कोई स्टूडेंट्स कॉलेज में एडमिशन लेने के बाद उसे कैंसिल करता है तो कॉलेज उसके ओरिजिनल डॉक्यूमेंट्स को अपने पास नहीं रख सकता है, साथ ही एडमिशन कैंसिल कराने पर स्टूडेंट्स को फीस भी लौटानी होगी। जिसके बाद यूजीसी ने भी कॉलेजों के लिए भी नई गाइडलाइन जारी कर दी है।

प्रकाश जावेड़कर ने ट्वीट कर दी जानकारी
- मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावेड़कर ने ट्वीट कर कहा कि 'उच्च शिक्षण संस्थान अगर दाखिला वापस लेने वाले विद्यार्थियों को उनकी फीस नहीं लौटाते हैं तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। साथ ही अब से किसी भी शिक्षण संस्थान को विद्यार्थियों के दस्तावेजों की मूल प्रति रखने का अधिकार नहीं होगा।'

यूजीसी ने की नई गाइडलाइन जारी
- अगर स्टूडेंट्स एडमिशन क्लोज हाने से 16 दिन पहले एडमिशन से अपना नाम वापस लेते हैं तो 100% फीस वापस मिलेगी। 
- एडमिशन क्लोज होने के 10 से 15 दिन पहले स्टूडेंट्स अपना एडमिशन कैंसिल करवाते हैं तो उन्हें 90% फीस वापस मिलेगी। 
- एडमिशन क्लोज होने के 15 दिन बाद स्टूडेंट्स एडमिशन कैंसिल करवाते हैं तो उन्हें 80% फीस वापस मिलेगी।
- एडमिशन क्लोज होने के बाद 1 महीने के अंदर स्टूडेंट्स अपना एडमिशन कैंसिल करवाते हैं तो 50% फीस वापस मिलेगी।
- एडमिशन क्लोज होने के 1 महीने के बाद स्टूडेंट्स एडमिशन कैंसिल करवाते हैं तो उन्हें फीस वापस नहीं दी जाएगी।
- इसके साथ ही कॉलेज अपने पास प्रोसेसिंग फीस केवल 5% या 5000 रुपए ही अपने पास रख सकता है। 


 

Next News

MPhil और PhD के नियमों में होगा बदलाव, एंट्रेंस एग्जाम में 70% मार्क्स जरूरी

एडमिशन अब 70% मार्क्स और इंटरव्यू के 30% मार्क्स के आधार पर दिया जाएगा।

Array ( )