कॉमर्स संबंधी इन जॉब्स में आपको आगे बढ़ाएंगे ये वोकेशनल कोर्सेज

कॉमर्स से जुड़े कुछ फील्ड्स हैं जहां आप वोकेशनल कोर्स करके आगे बढ़ सकते हैं।

एजुकेशन डेस्क। सभी तरह की एजुकेशन और एक्सपेरिमेंट्स का उद्देश्य स्टूडेंट्स को दुनिया का सामना करने और सामाजिक व आर्थिक मजबूती के लिए योगदान देने के लिए तैयार करना है। आम धारणा है कि पोस्ट ग्रेजुएशन करना एक उम्मीदवार को अधिक प्रॉडक्टिव बना सकता है, लेकिन अब युवा पीढ़ी इस धारणा को तोड़ रही है। अब स्टूडेंट्स बारहवीं के बाद ही प्रोफेशनल यात्रा शुरू कर रहे हैं। अगर आप भी ऐसी ही सोच रखते हैं तो कॉमर्स से जुड़े कुछ फील्ड्स हैं जहां आप वोकेशनल कोर्स करके आगे बढ़ सकते हैं।

शुरुआत यहां से करें
- प्रत्येक बिजनेस ऑर्गनाइजेशन में दो विभाग जरूर होते हैं, एक अकाउंट्स और दूसरा आईटी। इसे ध्यान में रखते हुए आप संबंधित क्षेत्र में सर्टिफिकेट कोर्स कर विशेषज्ञता हासिल कर सकते हैं और अपने कदम बढ़ा सकते हैं। आप अपनी शुरुआत उन कंपनियों से भी कर सकते हैं जो अभी मार्केट में नई हैं। 

अकाउंटिंग
- नंबर्स और कैलकुलेशन के साथ ही इसमें फाइनेंशियल रिकॉर्ड्स का एनालिसिस व समराइज करना और ऑडिटिंग व बुककीपिंग शामिल है। आप चाहें तो आईसीएआई की ओर से आयोजित परीक्षा में शामिल होकर सीए बन सकते हैं। इसके बाद आप सीपीटी में शामिल होकर अपनी योग्यता को परख सकते हैं। आप आईसीडब्लूए के कॉस्ट अकाउंटेंसी कोर्स में शामिल होकर विशेषज्ञ बन सकते हैं। कंपनी सैक्रेटरी के तौर पर भी आप खुद को स्थापित कर सकते हैं।

बैंकिंग
- इकोनॉमी मशीनरी के फंक्शंस को समझने के लिए बैंक आपके लिए एक बेहतर प्लेटफॉर्म साबित हो सकते हैं। आईबीपीएस, एसबीआई आदि संस्थानों की ओर से आयोजित परीक्षाओं में शामिल होकर आप अपने आपको एक बैंकर के रूप में तैयार कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त आप संबंधित स्टडी के माध्यम से बैंक टेलर, मार्केटिंग प्रतिनिधि, बुक कीपर आदि भी बन सकते हैं।

फाइनेंस
- फाइनेंशियल स्टेटमेंट्स प्रक्रिया और डेटा पॉइंट्स को समझने के लिए एनालिटिकल स्किल्स होनी जरूरी हैं। स्टूडेंट्स को स्टैटिस्टिक्स पढ़नी होगी, साथ ही फाइनेंस और अकाउंटेंसी, दोनों को कवर करने वालेविषय भी पढ़ने चाहिए।

टैक्सेशन
- तेजी से उभरते स्टार्टअप्स के कारण इस क्षेत्र में प्रोफेशनल्स की डिमांड भी बढ़ रही है। मौजूद कानून और जीएसटी जैसेटैक्स सिस्टम के आ जाने के बाद तो कॉर्पोरेट सेक्टर में टैक्स स्पेशलिस्ट्स की भारी मांग है।

Next News

कॉमर्शियल पायलट बनकर पहुंच सकते हैं नई ऊंचाइयों पर

कॅरिअर का यह ऑप्शन अपनाना चाहते हैं तो बारहवीं में मैथ्स, फिजिक्स और केमिस्ट्री पढ़ने होंगे।

रिसर्च या टीचिंग तक ही सीमित नहीं है फिलॉसफी का स्कोप

फिलॉसफी कोई एक विषय न होकर बहुत सारे विषयों का समूह है।

Array ( )