कॉलेज में नहीं हो पा रहा है एडमिशन, तो इन 5 ऑप्शंस से सवारें करियर

बिना कॉलेज जाए, इन ऑप्शंस का यूज कर आसानी से बना सकते हैं अपना करियर।

एजुकेशन डेस्क। अक्सर ऐसा होता है कि हम कॉलेज में एडमिशन तो लेना चाहते हैं, लेकिन कई परेशानियों की वजह से ले नहीं पाते हैं या फिर लेट हो जाते हैं। ऐसे में हमारे सामने भविष्य और करियर को लेकर कई सवाल मन में आते हैं, लेकिन आज के इस दौर में ऑप्शन बहुत सारे हैं। बस उनका यूज करना हमें आना चाहिए। इसलिए bhaskareducation.com कुछ ऐसे ही ऑप्शन के बारे में बताने जा रहा है, जिनका यूज करके कोई भी अपना करियर संवार सकता है। 

1. डिस्टेंस लर्निंग है बेस्ट ऑप्शन

डिस्टेंस एजुकेशन के जरिए घर बैठे भी पढ़ाई कर सकते हैं। इसके माध्यम से किसी भी मनपसंद कोर्स में स्टडी कर सकते हैं। साथ ही जॉब करते हुए अपनी क्वालिफिकेशन बढ़ाने का भी यह एक बेहतरीन माध्यम है। पूरे देश में इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी सहित 14 ओपेन और लगभग 100 से अधिक ऐसी रेगुलर यूनिवर्सिटीज़ हैं, जो डिस्टेंस एजुकेशन के माध्यम से ग्रेजुएशन और पीजी कोर्सेज के अलावा, प्रोफेशनल डिप्लोमा और डिग्री कोर्सेज में पढ़ाई कराते हैं।

2. कर सकते हैं शॉर्ट टर्म प्रोफेशनल कोर्स 

कॉम्पिटीशन के इस दौर में केवल बीए, एमए या बीएएससी, एमएससी करके करियर नहीं बना सकते हैं। वर्तमान दौर में सफलता की नई उंचाईया छूने के लिए आपके पास किसी न किसी प्रोफेशनल कोर्स का डिप्लोमा होना भी जरूरी है। दरअसल, तकनीक के बढ़ते इस्तेमाल ने आज हर क्षेत्र में टेक्नीकल स्किल में कुशल लोगों की डिमांड बढ़ा दी है। इसके लिए कंप्यूटर के कई शॉर्ट टर्म कोर्स भी कर सकते हैं, जो जॉब के लिए और स्किल्ड बनाते हैं। इनसे जॉब पाने का चांस तो बढ़ता है ही साथ ही एक्स्ट्रा स्किल्स से दूसरों से आगे रहने में भी मदद मिलती है।

3. प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना से जुड़े

भारत सरकार की शुरू की गई प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना का लाभ भी उठाया जा सकता है। यह योजना खासकर उन युवाओं के लिए ही है जो क्लास-10वीं या 12वीं के दौरान स्कूल छोड़ गए हैं या जिनको 12वीं क्लास के बाद किसी प्रोफेशनल कॉलेज में एडमिशन नहीं मिल पाता है। 

4. स्मॉल इंडस्ट्री पर भी दे सकते हैं ध्यान

डिस्टेंस लर्निंग करने के साथ-साथ युवाओं को स्मॉल इंडस्ट्री स्थापित करने पर भी ध्यान देना चाहिए। सरकारी और प्राइवेट सेक्टर में नौकरियों की संख्या सीमित है। साथ ही इसमें आगे बढ़ने और पैसा कमाने के संभावनाएं भी अपने व्यवसाय की तुलना में काफी कम है। इसके लिए केंद्र सरकार ही नहीं बल्कि कई राज्यों की सरकारें भी सस्ती दर पर लोन भी देती हैं। 

5. गवर्नमेंट जॉब की करें तैयारी

अगर पढ़ाई करने के बाद गवर्नमेंट जॉब करने का मूड है, तो डिस्टेंस लर्निंग करने के साथ-साथ कॉम्पिटिटिव एग्जाम्स की तैयारी भी कर सकते हैं। डिस्टेंस लर्निंग से पढ़ाई करते समय ये फायदा रहता है कि आपके पास समय काफी रहता है, जिसका फायदा कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयार के रूप में उठा सकते हैं।

Next News

कंप्यूटर में है रूचि तो 12 वीं या ग्रेजुएशन के बाद वीडियो एडिटिंग में बनाएं सुनहरा करियर

एक वीडियो एडिटर का मुख्य काम किसी भी मोशन पिक्चर, केबल या ब्रॉडकास्ट विजुअल मीडिया इंडस्ट्री के लिए साउंडट्रैक, फिल्म और वीडियो का संपादन करना होता है। 

12th के बाद बेस्ट ऑप्शन है 'डिस्टेंस लर्निंग', जानें इससे जुड़ी हर जरूरी बात

डिस्टेंस लर्निंग के बारे में अक्सर हम सब सुनते रहते हैं। कॉम्पिटीशन के जमाने में आज डिस्टेंस लर्निंग बेस्ट ऑप्शन बनकर उभरा है।

Array ( )