2650 मेडिकल सीट्स के लिए 18 जून से 2 राउंड में होगी नीट स्टेट काउंसलिंग

नीट स्टेट काउंसलिंग में एनआरआई कोटा में पहले राजस्थान बेस्ड एनआरआई स्टूडेंट्स को मिलेगी प्रायोरिटी, दूसरे स्टेट के राजस्थान में 10 से 12वीं तीन साल स्टडी करने वाले स्टूडेंट्स को भी नहीं मिलेगी प्रेफरेंस।

एजुकेशन डेस्क, जयपुर। 18 जून से स्टेट नीट काउंसलिंग यानी मेडिकल सीट चॉइस फिलिंग शुरू हो जाएगी। इस बार काउंसलिंग के लिए दो नए चेंज किए गए हैं। अब तक स्टेट मेडिकल सीट के लिए दूसरे स्टेट के स्टूडेंट्स को राजस्थान से 10वीं से 12वीं की पढ़ाई करने का वेटेज दिया जाता था। यानी चॉइस फिलिंग में रैंकिंग के मुताबिक राजस्थान के मेडिकल कॉलेज को ऑप्शन में भर सकते थे। अब सरकार ने नोटिफिकेशन जारी कर इस वेटेज को हटा दिया है। स्टेट की मेडिकल सीट के लिए अब राजस्थान का मूल निवासी होना जरूरी है। गौरतलब है कि राजस्थान में करीब 2650 मेडिकल सीट हैं। इस सेशन के लिए 5 नए सरकारी मेडिकल कॉलेजों को भी शामिल किया जा रहा है। स्टूडेंट्स के पास अच्छे सरकारी मेडिकल कॉलेज के ऑप्शन बढ़ गए हैं। वहीं दूसरा बदलाव करते हुए सरकार ने तय किया है कि एनआरआई कोटा में पहले राजस्थान में जन्में और पले बढ़े स्टूडेंट्स को प्रेफरेंस दी जाएगी। इससे पहले इस 15 परसेंट कोटा में मैरिट के आधार पर इंडिया की किसी भी जगह से ताल्लुक रखने वाले एनआरआई स्टूडेंट को एडमिशन मिल जाता था। इसमें अब पहले राजस्थान के स्टूडेंट्स को प्रायोरिटी दी जाएगी। इसके बाद बाकी जगहों से ताल्लुक रखने वाले एनआरआई स्टूडेंट्स को एडमिशन दिए जाएंगे। 

नए सरकारी कॉलेज कम सोसाइटी की बढ़ी हुई 500 मेडिकल सीट्स 
1. मेडिकल कॉलेज डूंगरपुर - 100 सीट्स 
2. मेडिकल कॉलेज भीलवाड़ा - 100 सीट्स
3. मेडिकल कॉलेज पाली - 100 सीट्स
4. मेडिकल कॉलेज भरतपुर - 100 सीट्स
5. मेडिकल कॉलेज चूरू - 100 सीट्स

स्टेट काउंसलिंग 18 जून से शुरू हो रही है। दो राउंड के बाद खाली रहने वाली सीट्स के लिए लास्ट मॉपअप राउंड करवाया जाएगा। 

- एससी सोनी, एडिशनल डायरेक्टर, मेडिकल एजुकेशन 

 

20 परसेंट तक एडमिशन कंपीटिशन हुआ कम 
- एक्सपर्ट आशीष अरोड़ा कहते हैं कि कोटा में नीट के तैयारी करने वाले करीब 30 से 35 हजार स्टूडेंट्स हर साल आते हैं।
- जोधपुर हाईकोर्ट के इस डिसीजन के बाद यह तो तय है कि राजस्थान के स्टूडेंट्स का करीब 20 परसेंट तक एडमिशन कंपीटिशन कम हो गया है।
- अब सभी 85 परसेंट सीट्स पर राजस्थान के स्टूडेंट्स पर एडमिशन हो सकेगा। पहले केवल 60 परसेंट सीट तक ही एडमिशन हो पाते थे।
- डोमिसाइल वाले स्टूडेंट्स 10वीं और 12वीं की मार्कशीट दिखा कर नीट काउंसिलिंग में हिस्सा लेते थे और अपने स्टेट में भी 85 परसेंट वाली सीट पर चॉइस भर देते थे। यानी एक स्टूडेंट को दो राज्यों की सीट का फायदा हो रहा था जो कि गलत था।
- अब पूर्णतया राजस्थान के स्टूडेंट्स को ही एडमिशन मिलेगा।

Next News

फिजिक्स पेपर में 3.8% और केमेस्ट्री में 1.6% मार्क्स पर ही नीट क्वालिफाई

नीट की काउंसलिंग 12 जून से शुरू होगी। इस बार नीट की जनरल कटऑफ 119 मार्क्स की रही। जबकि पिछले साल यह 131 रही थी।

नीट काउंसलिंग: स्टूडेंट्स को भरना होगा ग्रामीण क्षेत्रों में सेवा देने का अनुबंध पत्र

26 जून को आएगी नीट की स्टेट मेरिट लिस्ट और 30 जून तक कर सकेंगे फर्स्ट काउंसिलिंग के लिए च्वॉइस फिल

Array ( )