मेधावी छात्रों की स्कॉलरशिप पर स्कूल और उच्च शिक्षा विभाग के अफसर आमने सामने

मेधावी छात्रों काे काैन देगा स्कॉलरशिप, तय नही

एजुकेशन डेस्क। मध्य प्रदेश के मेधावी छात्र-छात्राओं को स्कॉलरशिप कौन सा विभाग देगा इसे लेकर अब तक गफलत की स्थिति बनी हुई है। हालात यह हैं कि स्कूल और उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारी एक दूसरे पर योजना संचालित करने का तर्क दे रहे हैं, जबकि दोनों ही विभागों ने इस दिशा में अब तक कोई तैयारी नहीं की है।

योजना के तहत स्कूल शिक्षा में ऐसे छात्र, जिनके हायर सेकंडरी में 85% से अधिक अंक हैं, उन सभी को स्नातक तक की शिक्षा के लिए दो हजार रुपए प्रतिमाह स्कॉलरशिप देने का वचन दिया गया है। गौरतलब है कि हायर सेकंडरी में प्रत्येक जिले में प्रथम दस-दस छात्र-छात्राओं को दो पहिया वाहन देने के प्रस्ताव पर भी अब तक कोई फैसला नहीं हो सका है।

हायर सेकंडरी में 85% से अधिक अंक लाने वाले स्टूडेंट्स को देना है वजीफा

  • अब प्रतिमाह दो हजार रुपए स्कॉलरशिप देने के मामले में यह असमंजस बना हुआ है कि स्कॉलरशिप देगा कौन। स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों के मुताबिक स्कॉलरशिप उच्च शिक्षा के लिए दी जानी है, इसलिए इसे उच्च शिक्षा विभाग ही दे, क्योंकि छात्र कॉलेज में पढ़ेंगे। इधर, उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारियों की दलील है कि इस संबंध में अब तक स्कूल शिक्षा की ओर से कोई प्रस्ताव नहीं आया है। प्रथम कार्रवाई तो उनको ही करना चाहिए।

अभी इसका प्रस्ताव तैयार नहीं हुआ है

  • अभी इस संबंध में प्रस्ताव तैयार नहीं किया है। यह उच्च शिक्षा से संबंधित है, इसलिए उन्हें इसकी जानकारी होगी। पीके सिंह, उपसचिव स्कूल शिक्षा विभाग
Next News

बड़ा फैसला / अब एम्स समेत सभी मेडिकल कॉलेजों में सिर्फ नीट से मिलेगा प्रवेश

केंद्रीय कैबिनेट ने नेशनल मेडिकल कमीशन (एनएमसी) बिल को मंजूरी दे दी है

Array ( )