NEET 2018: इस साल सभी कैटेगरी का गिरा कटऑफ

पिछले साल सामान्य कैटेगिरी का कटऑफ 131 थो जो इस साल 96 पर आकर रुका।

एजुकेशन डेस्क। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) ने सोमवार को नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (नीट) का रिजल्ट घोषित कर दिया। इस साल 720 में से 691 नंबर लाकर बिहार की कल्पना कुमारी ने टॉप किया है। कल्पना कुमारी ने नीट 2018 एग्जाम में  99.99% पर्सेंटाइल ऑल इंडिया में पहली रैंक पाई है। कल्पना कुमारी ने फिजिक्स में 180 में से 171 अंक, कैमेस्ट्री में 180 में से 160 अंक और बायोलॉजी में 360 में से 360 अंक हासिल किए हैं। वही इस साल सभी कैटेगरी के कटऑफ मार्क्स में गिरावट देखने में आई है। पिछली बार जहां जनरल का कटऑफ 131 था वही इस बार 12 मार्क्स कम होने से यह सिर्फ 96 रह गया।

इस साल 1 लाख 3 हजार कैंडिडेट्स ज्यादा क्वालिफाय हुए 
- 2017 में जहां 6,11,739 कैंडिडेट्स ने एग्जाम क्वालिफाय हुए थे। वहीं 2018 में कुल 7,14,298 कैंडिडेंट्स में एग्जाम क्वालिफाय किया।
-  इस साल एग्जाम 476 कॉलेजों की लगभग 60 हजार सीटों के लिए हुआ।
 

कैटेगरी के हिसाब से कट-ऑफ पर्सेंटाइल और स्कोर

कैटेगरी पर्सेंटाइल स्कोर केंडिडेट्स पास
सामान्य 50 691-119 6 लाख 34 हजार 987
ओबीसी 40 118-96 54 हजार 653
एससी 40 118-96 17 हजार 209
एसटी 40 118-96 7 हजार 446
अनारक्षित- दिव्यांग 45 118-107 205
ओबीसी-दिव्यांग 40 106-96 104
एससी- दिव्यांग 40 106-96 36
एसटी- दिव्यांग 40 106-96 12

 

इस साल सभी कैटेगरीज में गिराकट-ऑफ लेवल

कैटेगरी पर्सेंटाइल कट-ऑफ नंबर (2018) कट-ऑफ नंबर (2017)
जनरल 50 691-119 697-131
ओबीसी 40 118-96 130-107
एसटी 40 118-96 130-107
एससी 40 118-96 130-107

 

क्या है नीट एग्जाम

- साल 2016 से पहले तक मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम को ऑल इंडिया प्री-मेडिकल टेस्ट (एआईपीएमटी) कहा जाता था। जिससे सरकारी मेडिकल कॉलेजों की 15% एमबीबीएस और बीडीएस की सीटें भरी जाती थीं। बाकी 85% सीटें राज्य सरकार अपनी-अपनी अलग प्रवेश परीक्षा से भरती थीं। इसके साथ ही निजी कॉलेज भी अलग से प्रवेश परीक्षा लेते थे।
- इतनी सारी परीक्षाओं की जगह 2017 में नीट का कॉन्सेप्ट आया और इसी साल पहली बार देशभर में ये परीक्षा हुई। अब इसके जरिए ही छात्रों को निजी और सरकारी मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश मिलता है। 
- नीट के जरिए एम्स, जेआईपीएमईआर और एएफएमसी को छोड़कर बाकी सभी सरकारी और निजी मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में प्रवेश मिलता है।

नीट 2018 का रिजल्ट देखने के लिए यहां क्लिक करें

Next News

NEET 2018: बिहार की कल्पना बनी टॉपर, टॉप 50 में सिर्फ 14 लड़कियां

इस साल देशभर के लगभग 12 लाख कैंडिडेट्स एग्जाम में अपीयर हुए जिसमें से लगभग 7 लाख कैंडिडेट्स ने एग्जाम क्वालिफाय किया।

यूपी के 76,778 छात्र नीट क्वालिफाइड, जानें अन्य राज्यों के आंकड़े

इस साल 6 मई 2018 को हुए नीट एग्जाम में लगभग 12 लाख से अधिक कैंडिडेंट्स शामिल हुए, जिसमें से सिर्फ 7 लाख 14 हजार 562 कैंडिडेट्स क्वालिफाय हुए।

Array ( )