शॉर्ट मैसेज में मेरी रुचि ने पहुंचाया ट्विटर तक : जैक डोर्सी

बचपन में हकलाने की समस्या से जूझने वाले ट्विटर सीईओ से जानें सफलता की कहानी

FirstPerson। आज जो लोग मुझे एक बेहद सफल व्यक्ति के तौर पर जानते हैं, उन्हें यह जानकर हैरानी हो सकती है कि मैं बचपन में बोलते हुए हकलाता था और बोलने में होने वाली परेशानी की वजह से काफी समय घर पर ही कम्प्यूटर के साथ बिताता था। इस दौरान मेरे पेरेंट्स ने कम्प्यूटर में पुलिस स्कैनर नामक एक एप इंस्टॉल कर रखा था जिस पर मुझे शॉर्ट मैसेजेज काे सुनना और समझना बहुत रुचिपूर्ण लगता था। शॉर्ट मैसेजेज में मेरी इसी रुचि की वजह से बाद में मुझे ट्विटर तैयार करने का आइडिया आया। हाईस्कूल के दौरान ही मैंने कम्प्यूटर प्रोग्रामिंग से जुड़े प्रोग्राम्स सीखने शुरू कर दिए थे। हकलाने की समस्या को दूर करने के लिए दवाइयां लेने की बजाए मैंने स्पीच प्रतियोगिताओं में जाना व प्रैक्टिस करना शुरू किया। इसमें सबसे खास बात यह है कि किसी भी काम को इनोवेटिव तरीके से करना मुझे बचपन से ही पसंद था।

दोस्तों को दिया स्टेटस शेयरिंग प्लेटफॉर्म
कॅरिअर की शुरुआत मैंने एक प्रोग्रामर के तौर पर की और वर्ष 2000 में कैलिफोर्निया शिफ्ट हो गया। न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी में दाखिला लेने के बाद अपने दोस्तों के स्टेटस शेयर करने के लिए मुझे पहली बार शॉर्ट मैसेजेज सर्विस का ख्याल आया। साल 2006 में मैंने अमेरिकी कम्प्यूटर प्रोग्रामर इवान विलियम्स के साथ एक सिंपल साइट ट्विटर तैयार की जिसे हमने दो हफ्ते में तैयार किया था।

रुकावटें और समस्याएं काम का हिस्सा है
काम में बहुत-सी रुकावटें आती हैं, लेकिन मैं उन्हें अपने काम का ही हिस्सा मानता हूं। बस आपको उनसे डील करना आना चाहिए। जीवन में अनुशासन सबसे जरूरी है।

रचनात्मक अनुभवों को आधार बनाएं
नए उभरते आंत्रप्रेन्योर्स को मैं यह सलाह देना चाहूंगा कि कभी-भी असफलताओं से न डरें और न ही उन्हें छिपाएं। रिस्क लेकर और रचनात्मक अनुभवों के सहारे आप अपने लिए कोई रास्ता बना सकते हैं। इस दौरान छोटी-बड़ी असफलताएं भी आपके सामने आती रहेंगी, लेकिन उनसे घबराने की बजाए बेहतर तरीके से उनका सामना करते हुए खुद को खड़ा करना ही आपकी जीत साबित करेगा।

Next News

कला को बेहतर बनाने के काम आए संघर्ष के दिन : कीर्ति कुल्हारी

कई हिट फिल्मों में काम कर चुकी अभिनेत्री ने अपने कॅरिअर की शुरुआत एक एड फिल्म से की थी

काम को गंभीरता से लेकर ही आप कामयाबी की सीढ़ी चढ़ सकते है - रणवीर सिंह

वर्सेटाइल एक्टिंग के लिए चर्चा में रहने वाले रणवीर सिंह ने इस मुकाम तक पहुंचने के लिए संघर्ष भी किया

Array ( )