एमपी बोर्ड : सरकारी स्कूलों में नए शिक्षा सत्र शुरू, तिलक लगाकर बच्चों ने किया प्रवेश

शिक्षा मंत्री विजय शाह ने ने देशभक्ति की भावना जगाने के लिए हाजिरी में यस सर के बजाय जय हिंद बोलने के आदेश दिए हैं।

एजुकेशन डेस्क।  एमपी बोर्ड के सरकारी स्कूलों में नया शैक्षणिक सत्र का आगाज शुक्रवार से हो गया। इस सत्र में पहली बार स्कूल पहुंचे बच्चों का टीचर्स ने तिलक लगाकर शाला में प्रवेश करवाया। हालांकि टीचर और बच्चे यूनिफाॅर्म में नजर नहीं आए। जबकि शिक्षा विभाग ने इस वर्ष से बच्चों के साथ ही टीचर्स के लिए भी यूनिफॉर्म अनिवार्य कर दी है। शिक्षकों का कहना है कि आदेश तो अाया है, लेकिन अब तक उसे किस तरह से फॉलो करना है, इस संबंध में कुछ नहीं बताया गया है।

यस सर की जगह जय हिंद कहना होगा

- बता दें कि पिछले दिनों शिक्षा मंत्री विजय शाह ने घोषणा की थी कि छात्रों में देशभक्ति की भावना जगाने के लिए उन्हें हाजिरी में 'यस सर' के बजाय जय हिंद बोलना है। इसके लिए भोपाल से आदेश जारी होने के बाद स्थानीय स्तर पर अब तक कोई आदेश जारी नहीं हुआ।

महिलाएं महरून, पुरुष नीली जैकेट पहनेंगे
- शिक्षा विभाग के फरवरी 2018 के आदेश के मुताबिक नए सत्र से शिक्षकों को भी यूनिफॉर्म में ही स्कूल आना होगा। पुरुषों को नेवी ब्लू तो महिलाओं के लिए महरून रंग की जैकेट तय की गई है, लेकिन उक्त आदेश के पालन के लिए स्थानीय स्तर पर कोई आदेश जारी नहीं हुए। वहीं शिक्षक भी असमंजस में हैं कि उन्हें यह जैकेट विभाग की तरफ से मिलेगी या अपने स्तर पर खरीदना होगी।

अब तक खातों में जमा होती थी छात्रों की यूनिफॉर्म की राशि
- छात्रों को स्कूलों से यूनिफॉर्म दी जाएगी। यह कब और स्कूलों तक कैसे पहुंचेगी, इसकी जानकारी संकुल प्राचार्य को नहीं है। किसी बीआरसी के पास इस संबंध में आदेश भी नहीं आए। हालांकि अब तक छात्रों की यूनिफॉर्म की राशि उनके खाते में जमा की जाती थी।

प्राचार्यों की बैठक में दे दिए थे मौखिक निर्देश
- स्कूलों में हाजिरी में छात्राें द्वारा जय हिंद बोले जाने को लेकर प्राचार्यों की बैठक में मौखिक निर्देश दिए गए थे। शिक्षकों की यूनिफॉर्म को लेकर मेरे पास कोई आदेश नहीं आया। -सीके शर्मा, डीईओ, शिक्षा विभाग

Next News

त्रिपुरा बोर्ड: 10th का रिजल्ट घोषित, ऐसे करें चेक

इस साल एग्जाम में 49 हजार स्टूडेंट्स शामिल हुए थे जिसमें से 59.59% स्टूडेंट्स पास हुए है।

बिहार बोर्ड: टॉपर्स वेरिफिकेशन के बाद 20 जून को जारी होगा 10th रिजल्ट

इस साल 17 लाख से ज्यादा कैंडिडेट्स एग्जाम में शामिल हुए थे।

Array ( )