एमपी बोर्ड: डीएलएड एग्जाम 19 जून से, 28 हजार कैंडिडेट्स होंगे शामिल

बोर्ड की देखरेख में होने वाली इस एग्जाम को लेकर अंचल में 43 केंद्र बनाए गए हैं। इन सभी को संवेदनशील कैटेगरी में रखा गया है।

एजुकेशन डेस्क, ग्वालियर। डिप्लोमा इन एलीमेंट्री एजुकेशन (डी.एल.एड) के पहले व दूसरे वर्ष के रेगुलर स्टूडेंट्स की एग्जाम 19 जून से प्रारंभ होगी। चूंकि इस एग्जाम में बाहरी स्टूडेंट बड़ी संख्या में शामिल होते हैं इसलिए शिक्षा माफिया गड़बड़ी करते हैं, इसी कारण अफसरों में फर्जीवाड़े को लेकर डर है। एमपी बोर्ड की देखरेख में होने वाली इस एग्जाम को लेकर अंचल में 43 केंद्र बनाए गए हैं। इन सभी को संवेदनशील कैटेगरी में रखा गया है। बोर्ड की यह एग्जाम्स 29 जून तक चलेंगी।


कितने कैंडिडेट होंगे शामिल

- अंचल के सभी केंद्रों पर इन एग्जाम्स में 28 हजार कैंडिडेट्स शामिल होंगे। इनमें प्रथम वर्ष की एग्जाम में 14 हजार 976 जबकि द्वितीय वर्ष की एग्जाम में 13 हजार 382 कैंडिडेट्स शामिल होंगे। 
- ग्वालियर में उक्त परीक्षा के लिए 15 केंद्र बनाए गए हैं, इन पर 11 हजार 79 कैंडिडेट्स परीक्षा देंगे।
- परीक्षा में व्यवधान न हो इसके लिए बोर्ड में केवियट भी दायर कर दी है। इसकी पुष्टि करते हुए संभागीय अधिकारी आरपी बरेहिया ने कहा, कुछ संस्थाएं या फिर छात्र परीक्षा में व्यवधान या उसे रुकवाने का प्रयास कर सकते हैं। इसी कारण उच्च न्यायालय में केवियट दायर की गई है ताकि न्यायालय में उनका पक्ष सुना जा सके। 

 

तीन केंद्रों पर काउंसिलिंग

- छात्रों की रुचि नहीं-ऐसे छात्र जिनके हायर सेकंडरी एग्जाम में 70% से ज्यादा नंबर आए हैं उनकी शहर के तीन केंद्रों पर काउंसिलिंग की जा रही है। गर्मी के कारण यहां पर स्टूडेंट्स की उपस्थिति 40 फीसदी ही रह रही है। जिला शिक्षा अधिकारी डॉ. आरएन नीखरा ने कहा, काफी प्रयास के बाद भी स्टूडेंट संख्या नहीं बढ़ पा रही है। 

 

जून तक चलेगी काउंसिलिंग

- काउंसिलिंग जून तक-जिन स्टूडेंट्स के हायर सेकंडरी परीक्षा में 70% से कम नंबर आए हैं उनकी काउंसिलिंग भी होगी। यह 4 से 14 जून के बीच होगी। 
- इसके बाद हाईस्कूल पास, कक्षा 11 वीं व 12 वीं में फेल स्टूडेंट्स की काउंसिलिंग 18 से 28 जून के बीच होगी। 

 

85% वालो कैंडिडेट की फीस सरकार देगी

- फीस सरकार देगी-एमपी बोर्ड की 12 वीं में 75% से अधिक या सीबीएसई/आईसीएसई बोर्ड में 85% से ज्यादा अंक लाने वाले स्टूडेंट्स को कॉलेज में एडमिशन लेने पर फीस सरकार देगी। 
- प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेज को अधिकतम 1.5 लाख दिए जाएंगे।

रोल नंबर डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें
 

Next News

AILET: फॉरेन नेशनल कैटेगिरी का रिजल्ट घोषित, देवांश ने किया टॉप

इस साल 17,475 कैंडिडेट्स ने एग्जाम दिया था। देवांश कौशिक ने आईलेट एग्जाम 98.25 मार्क्स के साथ ऑल इंडिया में पहली रैंक हासिल की है।

Array ( )