जब तक आप संतुष्ट हैं, तब तक आराम से हैं: प्लॉटस के 20 मोटिवेशनल कोट्स

मशहूर नाटककार टाइटस मैक्सियस प्लॉटस को "प्लॉटस' के नाम से भी जाना जाता है। प्लॉटस कहते हैं - जिन चीजों की उम्मीद ही न की हो वो ना चाहते हुए भी समय से पहले ही मिल जाती हैं। 

नॉलेज डेस्क।  मशहूर नाटककार टाइटस मैक्सियस प्लॉटस को "प्लॉटस' के नाम से भी जाना जाता है। अंग्रेजी में इनके नाम का मतलब "फ्लैटफुट' है। लैटिन अवधि के रोमन नाटककार थे। इनका लिखा हास्य शुरुआती दौर में खूब पसंद किया जाता था। 

जन्म- 254 BC. के आसपास 
निधन- 184 BC.

 

1.    जिन चीजों की उम्मीद ही न की हो वो ना चाहते हुए भी समय से पहले ही मिल जाती हैं। 
2.    जहां दोस्त हैं, वहीं दौलत है। 
3.    किसी भी काम को करने से पहले उस पर विचार करना ही बुद्धिमानी है। 
4.    जिस पत्नि की शादी उसकी इच्छा के विरुद्ध हुई है, वह अपने पति की दुश्मन की तरह ही है। 
5.    जेवर नहीं, चरित्र की खूबसूरती ही शरीर को संवारती है। जेवर तो भाग्य से मिलते हैं जबकि चरित्र हमारे अंदर ही पनपता है। 
6.    अपराधबोध से ग्रसित दिमाग से ज्यादा मनहूस और कुछ भी नहीं हो सकता। 
7.    कृतघ्न से प्रेम करना किसी से प्रेम न करने के बराबर ही है। 
8.    एक गरीब जब एक अमीर से दोस्ती करता है, तो वह बड़ा जोखिम लेता है। 
9.    एक सुस्त दोस्त से ज्यादा हमें और कोई नहीं चिढ़ाता। 
10.    पुरुष आशीर्वाद का मतलब तब समझ पाते हैं जब वे उसे खो चुके होते हैं। 
11.    हर मुसीबत का एक ही उपाय है, धैर्य रखना। 
12.    आपके कर्मों और शब्दों में मेल होना चाहिए। 
13.    अच्छा अंत करने से ज्यादा आसान है एक अच्छी शुरुआत करना। 
14.    कई खेल ऐसे होते हैं जिनमें हारना ही बेहतर होता है, जीतना नहीं। 
15.    बिना पंख के उड़ना बहुत मुश्किल होता है। 
16.    उम्र से नहीं, बुद्धिमानी तो क्षमता से आंकी जाती है। 
17.    पैसे बनाने के लिए पैसे खर्च करना जरूरी है। 
18.    गंभीरता से की गई आलोचना से बेहतर है मजाक में की गई प्रशंसा। 
19.    जब तक आप संतुष्ट हैं, आप आराम से हैं। 
20.    दिन, सूर्य, चंद्रमां और रात- इन्हें पैसे देकर खरीदने की जरूरत नहीं पड़ती है। 
 

Next News

आपके सपने भी हो सकते हैं पूरे, आजमाकर देखिए सफलता के 3 सूत्र

इंटरनेशनल मोटिवेशनल स्पीकर डॉ. विवेक बिंद्रा बता रहे हैं सफलता के 3 ऐसे सूत्र जिनकी मदद से आपके सपने भी पूरे हो सकते हैं।

वर्कप्लेस पर करना है ग्रोथ, तो तनाव को कहें ना

वर्कप्लेस पर लोग अकसर पूरा दिन ऑफिस में रहने और दिनों दिन काम के बढ़ते प्रेशर के कारण तनाव में आ जाते हैं। यह स्थिति तब और अधिक बढ़ जाती है जब हम अपने

Array ( )