सीबीएसई में फिर आया मार्किंग पैटर्न, 7 साल पहले शुरू हुआ था ग्रेडिंग सिस्टम

टॉपर्स पहले से ही चाहते थे ग्रेड नहीं, मार्क्स मिलें, एग्जाम में नंबर्स मिलने पर खुश दिखे टॉपर्स

एजुकेशन डेस्क, भोपाल। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) ने मंगलवार को 10वीं के परीक्षा परिणाम घोषित कर दिए। रिजल्ट के लिए स्टूडेंट्स सीबीएसई की वेबसाइट पर लगातार निगाह रखे रहे और जैसे ही रिजल्ट जारी हुआ, वे अपने नंबर और रैंक देखने के लिए बेताब नजर आए। सात साल चले ग्रेडिंग सिस्टम के बाद इस साल से दसवीं में दोबारा मार्किंग सिस्टम की शुरुआत हुई। परीक्षा में 98.2 प्रतिशत अंकों के साथ कार्मल कॉन्वेंट स्कूल की अंजलि जैन और दिल्ली पब्लिक स्कूल की याशिका मंघनानी शहर के साथ ही स्टेट की टॉपर भी रहीं। वहीं शहर में दूसरे स्थान पर डीपीएस के पुलकित पालीवाल और तीसरे स्थान पर सेंट जोसेफ्स को-एड स्कूल की तनिशा जैन, आरोही जैन, स्वप्निल शिवम व सेंट जोसेफ्स कॉन्वेंट स्कूल की मेहर खान रहीं। 

 

7 साल पहले सीबीएसई ने शुरू किया था ग्रेडिंग सिस्टम

- 2011 में सीबीएसई ने शुरू किया था ग्रेडिंग सिस्टम, सीजीपीए 10 के स्केल पर दी जाने लगी थी ग्रेड 
- 7 साल बाद सीबीएसई ने बदली मार्किंग स्कीम, इस बार 80 अंकों की बोर्ड परीक्षा और 20 अंकों के इंटरनल एग्जाम को मिलाकर लाने थे पासिंग मार्क्स 
- शहर में 10वीं बोर्ड एग्जाम में बैठे थे करीब 15000 स्टूडेंट्स 

 

यह हैं शहर के टॉपर्स 

नाम 

रैंक      परसेंट   स्कूल 

अंजलि जैन 

1st 98.2

कार्मल कॉन्वेंट भेल 

याशिका मंघनानी

1st 98.2 डीपीएस

पुलकित पालीवाल 

2nd 98.0

 डीपीएस 

तनिशा जैन 

3rd 97.8

सेंट जोसेफ्स को-एड

आरोही जैन

3rd 97.8

सेंट जोसेफ्स को-एड

स्वप्निल शिवम

3rd 97.8

सेंट जोसेफ्स को-एड 

मेहर खान 

3rd 97.8

सेंट जोसेफ्स कॉन्वेंट

मधुर सराफ जैन    

4th 97.6

शारदा विद्या मंदिर 

तनिष्का पंडित 

4th 97.6

कार्मेल कान्वेंट 

नूतन दिशा चौधरी

5th 97.2

केन्द्रीय विद्यालय-1

अश्विनी कुमार अय्यर 

5th 97.2

सेंट जोसेफ को-एड 

सिमरन गुप्ता

5th 97.2

सेंट जोसेफ्स कॉन्वेंट

आकृति जैन     

5th 97.2

डीपीएस

प्रियल बथेजा 

5th 97.2

सेंट जोसेफ्स कॉन्वेंट 

अरीबा आफरीन 

5th 97.2

सेंट जोसेफ्स कॉन्वेंट 

कृतिका पालीवाल 

6th 97.0

 सेंट जोसेफ्स कॉन्वेंट 

भव्या वैद्य

6th 97.0

डीपीएस 

दृष्टिका मेलवानी     

6th

97.0

सेंट जोसेफ्स को-एड

अनुष्का श्रीवास्तव

7th 96.8

सेंट जोसेफ्स को-एड

आयुष गुप्ता 

8th 96.6

सेंट जोसेफ्स को-एड 

जेम्स थॉमस 

8th 96.6

सेंट जोसेफ्स को-एड 

अभिनव सहाय     

8th 96.6

आईपीएस 

समृद्धि सिल्वेस्टर

8th 96.6

कार्मल कॉन्वेंट भेल 

प्रबल सोनकिया    

8th 96.6

 केंद्रीय विद्यालय-3

तनिषा गुप्ता 

9th 96.4

कार्मल कॉन्वेंट भेल 

इशिता मारण     

9th 96.4

विंध्याचल अकेडमी 

इलिका राना 

10th 96.2

एसपीएस

अनुष्का सिंह    

10th 96.2

कार्मल कॉन्वेंट भेल 

अंशु प्रिया

10th 96.2

केंद्रीय विद्यालय-3

वैभव सेठिया 

10th 96.2

आर्मी पब्लिक स्कूल 

अनुष्का पिल्लई 

10th 96.2

सेंट जोसेफ्स को-एड 

सम्यक गोठी 

11th 96.0

एसपीएस 

सरबप्रीत सिंह

11th 96.0

सेंट जोसेफ्स को-एड 

कनुप्रिया व्यास    

11th 96.0

आंनद विहार 

आयुषी जैन 

11th 96.0

आईपीएस

मेहजबीन अहमद 

11th 96.0

कार्मल कॉन्वेंट भेल 

इसनूर जैन

11th 96.0

सेंट जोसेफ्स को-एड 


 

नंबर्स बताते हैं कौन मेहनती है - अंजलि जैन 98.2% 

मैं हमेशा से चाहती थी कि बोर्ड एग्जाम में मार्क्स मिलें। ग्रेड में पता ही नहीं चलता कि कौन बेहतर है। आज भी छोटी बहन ने कहा, मेरे 89% मार्क्स आए हैं, मैं शॉक्ड थी। मैंने 90% का अनुमान लगाया था। बाद में, दादा जी ने ऑनलाइन मार्कशीट दिखाई। 

तैयारियों के नुस्खे : पोयम्स समझना मुश्किल था। हिंदी में राम-लक्ष्मण परशुराम संवाद। तीन पन्नों की यह पोयम दादा जी ने समझाई। 
माय ट्रिक : दो महीनों तक ओल्ड पेपर सॉल्व किए। आंसर में प्रेजेंटेशन का ध्यान रखा और जरूरी पॉइंट्स हाईलाइट किए।
अगला टारगेट : पीसीएम लूंगी। मेरी मैथ्स अच्छी है, इसलिए आईआईटी में पढ़ाई करनी है। 



परीक्षा के पहले से की टारगेटेड पढ़ाई - याशिका 98.2% 

9वीं से मैंने क्लासरूम स्टडी को घर में रिवाइज किया। प्री-बोर्ड की तैयारी की और पर्सनल रिविजन किया। हर एक सब्जेक्ट के लिए टाइम टेबल बनाया। परीक्षा के पहले से टारगेटेड पढ़ाई की। मैं हमेशा से चाहती थी कि बोर्ड एग्जाम में स्कोर मिले, ताकि मैं जितनी मेहनत कर रही हूं, वह बता सकूं। 

तैयारियों के नुस्खे : फ्रेंच और मैथ्स में टीचर्स ने मदद की। सबसे बड़ी मददगार मां हैं। 
माय ट्रिक : क्लासरूम टॉपिक्स लिख-लिख कर याद किए, ताकि यह दिमाग में इमेज सा प्रिंट हो जाए। एग्जाम में यही इमेज याद आईं। 
अगला टारगेट :  मैथ्स प्लस कॉमर्स लूंगी। आगे यूपीएससी की तैयारी करनी है। 



खेल-टीवी से नो कॉम्प्रोमाइज - पुलकित 98% 

9वीं-10वीं स्कूलिंग का बेसिक है, यह मजबूत हों इसलिए मार्क्स जरूरी हैं। यही तो मेहनत करने के लिए मोटिवेट करते हैं। मैंने शुरू से मेहनत की और दोस्तों के साथ खेलने व मूवी देखने में कॉम्प्रोमाइज नहीं किया। 

तैयारियों के नुस्खे : मैं रोज पढ़ाई का टारगेट बनाता था और इसके हिसाब से डे प्लान करता था। पढ़ना, खेलना और टीवी देखना, यह सब सुबह के टारगेट पर निर्भर करता था। 
माय ट्रिक : हर सब्जेक्ट में टॉपिक्स की लिस्ट बनाई, जिसको एग्जाम गैप में रेडी किया और लास्ट डे वीक टॉपिक्स रिवाइज किए। 
अगला टारगेट : पीसीएम लूंगा। आईआईटी के बाद अंतिम टारगेट सिविल सर्विसेस है। 

Next News

सीबीएसई 10th का तीसरे साल भी गिरा पासिंग परसेंटेज, जानें 10 बड़ी बातें

इस साल 10वीं बोर्ड में टॉप-3 पोजिशन पर 25 स्टूडेंट्स हैं, जिनमें से 17 लड़कियां हैं।

सीबीएसई 10वीं बोर्ड में फ्रेंच और जर्मन भाषा में 15% डाउन रहा रिजल्ट

सीबीएसई 10वीं बोर्ड में इस बार हिंदी का रिजल्ट 8 परसेंट बढ़ा है। पिछले पांच सालों की तुलना में स्टूडेंट्स की रुचि हिंदी में बढ़ी है, वहीं तीसरी भाषा की

Array ( )