मैनिट / स्टूडेंट काउंसिल गठित, संदीप कुमार खतरी चुने गए अध्यक्ष; मिले 35 वोट

मैकेनिकल डिपार्टमेंट के फाइनल ईयर स्टूडेंट मनीष आनंद को उपाध्यक्ष चुना है

एजुकेशन डेस्क। मौलाना आजाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (मैनिट) में शुक्रवार को स्टूडेंट काउंसिल का गठन किया गया। सुबह 9 बजे से शुरू हुई प्रक्रिया के बाद काउंसिल का अध्यक्ष संदीप कुमार खत्री को चुना गया है। कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के फाइनल ईयर स्टूडेंट संदीप को 35 वोट मिले, वहीं इनके खिलाफ खड़े हुए सिविल डिपार्टमेंट के छात्र श्रीकांत को सिर्फ 3 वोट मिले हैं।

मैकेनिकल डिपार्टमेंट के फाइनल ईयर स्टूडेंट मनीष आनंद को उपाध्यक्ष चुना है। वहीं कुल 38 कक्षाओं में से सिर्फ सिविल डिपार्टमेंट फाइनल ईयर कक्षाओं में निर्विरोध सीआर चुना गया है। सत्र 2019- 20 के लिए काउंसलिंग के गठन की प्रक्रिया रात 7:30 बजे तक चली। इसके बाद डायरेक्टर डॉ. नरद्रें सिंह रघुवंशी ने रिजल्ट ओपन किया।

खास बात यह है कि इंटरव्यू कमेटी ने स्टूडेंट्स काउंसिल में पदाधिकारी पद के लिए दावेदारी करने वाले छात्रों से पिछले सेमेस्टर में हॉस्टल में हुए सीनियर-जूनियर के विवाद को जोड़कर भी सवाल किए और पूछा कि वे काउंसिल में जिम्मेदारी संभालकर इस तरह की घटनाओं पर कैसे रोक लगाएंगे। अधिकतर स्टूडेंट्स ने सीनियर और जूनियर के बीच संवाद बढ़ाने और उनके बीच डर जैसे शब्द को हटाने की बात कही है। इसमें वही स्टूडेंट्स शामिल हो सके, जो पिछले सत्रों में 7.5 सीजीपीए के साथ पास हुए थे।

सभी 38 सीआर ने अध्यक्ष, उपाध्यक्ष सहित विभिन्न पदों के लिए की वोटिंग
सभी क्लास रूम में सुबह 9 से 11 बजे तक क्लास रिप्रेंजेंटिव (सीआर) के लिए वोटिंग हुई। इस प्रक्रिया के तहत 38 सीआर चुने गए। इसके बाद उन्होंने दोपहर 2 बजे से अध्यक्ष, उपाध्यक्ष सहित विभिन्न पदों के लिए वोट डालकर अपने लीडर चुने। अंत में एक स्क्रीनिंग कमेटी के सामने इन स्टूडेंट्स के इंटरव्यू हुए। यह इंटरव्यू इस उद्देश्य के साथ हुए, जिससे यह पता लग सके कि स्टूडेंट्स काउंसिल के विभिन्न पदों की जिम्मेदारी संभाल सकते हैं या नहीं।

हर ईयर में एक कमेटी करेंगे एक्टिव
संस्थान में सारे काम कानूनी तौर पर सही हों, इसका ध्यान रखा जाएगा। हर ईयर में एक कमेटी एक्टिव की जाएगी। इससे स्टूडेंट्स की समस्याएं पता चल सकेंगी और उन्हें हल कराने में आसानी होगी। जूनियर व सीनियर के बीच फ्रेंडली माहौल बनाने की कोशिश की जाएगी। संदीप कुमार खत्री, अध्यक्ष, स्टूडेंट काउंसिल

रैगिंग पर रोक लगाने करेंगे काम
रैगिंग पर रोक लगाने पर काम किया जाएगा। सीनियर और जूनियर के बीच इंटरेक्शन बढ़ाने की कोशिश की जाएगी, ताकि पिछले सेमेस्टर में जो आपसी विवाद की घटनाएं सामने आईं, वह दोबारा न घटें। मैनिट में जो समस्याएं हैं उन्हें दूर कराने और सुविधाएं बढ़ाने पर ध्यान दिया जाएगा। मनीष आनंद, उपाध्यक्ष, स्टूडेंट काउंसिल

Next News

कैंपस / कॉलेज लेवल काउंसलिंग शुरू; पहले दिन 6190 ने कराया रजिस्ट्रेशन

दस्तावेजों का सत्यापन 14 तक और सीटों का अलॉटमेंट 20 को होगा

डीयू/ 7वीं कट-ऑफ लिस्ट जारी, 8 अगस्त तक जमा करना होंगे डाक्यूमेंट्स

इस साल 62,000 सीटों के लिए 2.58 लाख स्टूडेंट्स ने आवेदन किया था

Array ( )