मध्य प्रदेश / 10वीं और 12वीं का रिजल्ट कल, हेल्पलाइन पर रोज आ रहे 350 कॉल

जनवरी से अप्रैल अंत तक करीब 44 हजार से ज्यादा छात्र-छात्राओं ने किए हेल्पलाइन पर कॉल

एजुकेशन डेस्क। मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल बुधवार को 10वीं और 12वीं के रिजल्ट घोषित करने जा रहा है। ऐसे में परीक्षा परिणाम को लेकर बच्चों में तनाव देखा जा सकता है। हालांकि इस बार बच्चों पर माता-पिता का दबाव नहीं दिख रहा, लेकिन बच्चे खुद के स्ट्रेस से परेशान हैं। इसकाे लेकर माध्यमिक शिक्षा मंडल की हेल्प लाइन पर हर दिन करीब 350 कॉल पहुंच रहे हैं। इनमें 70 फीसदी बच्चे रिजल्ट की तारीख पूछ रहे हैं, जबकि 10 फीसदी बच्चेस्ट्रेस को लेकर सवाल कर रहे हैं। वहीं शेष 20 फीसदी बच्चे रिजल्ट के बाद विषयाें के चयन और कॅरियर से संबंधित सवाल कर रहे हैं।  

हेल्प लाइन पर जनवरी सेलेकर अप्रैल के अंत तक करीब 44 हजार छात्र-छात्राएं काउंसलिंग के लिए कॉल कर चुके हैं। जनवरी में औसतन 7 हजार कॉल आए थे, लेकिन फरवरी और मार्च में कॉल की संख्या 10 हजार पहुंच गई। अप्रैल में यह आंकड़ा फिर से 7 हजार पर आ गया। औसतन हर दिन 350 बच्चे हेल्प लाइन पर कॉल कर रहे हैं।

काउंसलर्स बोले- पेरेंट्स इन बातों का रखें ध्यान
- माशिमं की हेल्पलाइन में छह काउंसलर्स अलग-अलग शिफ्ट में काउंसलिंग करते हैं। उनका पेरेंट्स को यही सुझाव है कि रिजल्ट के दिनों में बच्चों को हतोत्साहित या निराश करने वाली बात ना करें। घर का माहौल सकारात्मक बनाकर रखें।
- सभी माता-पिता को जीवन के अनुभव बताते हुए बच्चों को बताना चाहिए कि कितनी भी बड़ी परेशानी आ जाए, उसे संयम से हल किया जा सकता है। 
- पढ़ाई के दौरान और बच्चे की रोजाना की दिनचर्या के बीच उनकी रुचि के बारेमें जानने की कोशिश करें।
- खुद पढ़ाई के कोर्स, फीस, कॅरियर की पूरी जानकारी एकत्रित कर बच्चों को इसके बारेमें बताएं।

बच्चों के मुख्य सवाल
- रिजल्ट कब आ रहा?
-बेस्ट फाइव योजना क्या है?
- प्रोजेक्ट के नंबर जुड़ेंगे या नहीं? 
- ग्रेस मिलेगा या नहीं?
- अधिभार की राशि कैसे मिलेगी? 
- स्ट्रेस तो है, लेकिन माता-पिता का नहीं खुद का है कैसे कम करें?
- विषय का चयन कैसे करें?

कल 11 बजे रिजल्ट
- 15 मई को 10वीं और 12वीं का रिजल्ट घोषित होगा। सुबह 11 बजे से छात्र अपना रिजल्ट जान सकेंगे। इससे पहलेमाशिमं की हेल्पलाइन पर बच्चों के कॉल आ रहे हैं। हम उन्हें यही समझा रहे हैं कि कम नंबर आने का मतलब यह नहीं कि आप में काबिलियत नहीं है। रिजल्ट तो सिर्फ उस विषय की जानकारी और जवाबों के आधार पर बनता है, इससे अधिक वह कुछ नहीं है। - अजय गंगवार, सचिव, माशिमं

Next News

एमपी बोर्ड / 15 मई को जारी हो सकता है 12वीं का रिजल्ट, ऐसे कर सकेंगे चेक

12वीं की परीक्षा 3 मार्च से 2 अप्रैल 2019 तक आयोजित की गई थी

मध्यप्रदेश बोर्ड / 10वीं में 61.32% और 12वीं में 72.37% छात्र पास

छात्र mpbse.nic.in और mpresults.nic.in पर जाकर चेक कर सकते हैं रिजल्ट

Array ( )