जीवन वैसा ही होता है, जैसा आप उसे बनाते हैं: सैम्युएल स्माइल्स

सैम्युएल स्माइल्स एक स्कॉटिश लेखक और गवर्नमेंट रिफॉर्मर थे।

एजुकेशन डेस्क। सैम्युएल स्माइल्स एक स्कॉटिश लेखक और गवर्नमेंट रिफॉर्मर थे। उनका मानना था कि ज्यादा तरक्की नए रवैये से मिलती है, नए नियम लागू करने से नहीं। इनकी सेल्फ-हेल्प आज भी काफी मशहूर है। 

सैम्युएल स्माइल्स 
जन्म : 23 दिसंबर 1812  
निधन: 16 अप्रैल 1904 

- खुशी की एक आदत होती है। चीजों के अच्छे और बुरे पहलू देखने की भी आदत होती है। 

- उम्मीद साथी है ताक़त की और सफलता की जननी भी है। जो उम्मीद करता है उसी में जादू समाहित होता है। 

- सरकार की ही तरह शादी भी समझौतों की शृंखला ही है। इसमें देना, लेना, सुधारना, धैर्य, सहना, नियंत्रण, ये सब चलता रहता है। 

- ये तय है कि ईमानदार व्यक्ति बेईमान व्यक्ति की तरह तेजी से धन नहीं कमा पाता। लेकिन बिना अन्याय और धोखा दिए जो सफलता मिलती है, वही सच्ची सफलता है। 

- आत्म-सम्मान ही वो महानतम पोषाक है जिसे व्यक्ति पहन सकता है। ये ऐसा शुद्ध अहसास है जिससे दिमाग प्रेरित होता है।

- जीवन वैसा ही होता है जैसा आप उसे बनाते हैं। 

- आपका चरित्र भी आपकी सम्पत्ति है।

- उम्मीद सूरज की तरह है। जैसे ही हम उसकी तरफ बढ़ते हैं, परछाई पीछे छूट जाती है। 

- ये मानना गलत है की आदमी सफल होकर सफलता पाता है। सच तो ये है कि वो असफल होकर ही सफलता प्राप्त करता है। 
 

 

Next News

देश तब तक महान नहीं बन सकता जब तक लोगों की सोच या कर्म संकीर्ण हैं: नेहरू

भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु ने 14 अगस्त 1947 की मध्यरात्रि को स्पीच “TRYST WITH DESTINY” दी थी। यह एक ऐतिहासिक भाषण था।

सफल होना है तो दिखो मूर्ख, लेकिन रहो बुद्धिमान: बैरन डे मॉन्टेस्क्यू

बैरन डे मॉन्टेस्क्यू फ्रांस में पैदा हुए थे। इन्हें मॉन्टेस्क्यू कहकर भी पुकारा जाता था।

Array ( )