Articles worth reading

इटैलियन सीखना है फायदेमंद, मिलते हैं कई जॉब ऑप्शन

इटैलियन दुनिया में चौथी सबसे ज्यादा पढ़ी जाने वाली भाषा है।

एजुकेशन डेस्क। आज के दौर में दूसरे देशों की लैंग्वेज सीखने का ट्रेंड भारत देश में काफी तेजी से बढ़ता जा रहा है। साथा ही दूसरे देशों कि लैंग्वेज सीखने वाले लोगों के लिए भारत में काफी रोजगार के अवसर भी खुल जाते हैं। अगर आप दूसरी लैंग्वेज सीखने की इच्छा रखते हैं तो इटैलियन भाषा सीखना अपके लिए काफी लाभदायक साबित हो सकता हैं। 

दरअसल इटैलियन दुनिया में चौथी सबसे ज्यादा पढ़ी जाने वाली भाषा है। साथ ही भारत और इटली के आपस में मजबूत अर्थिक व राजनीतिक संबंध हैं। यही वजह है कि इन दोनों देशों के बीच बिजनेस पार्टनरशिप काफी अच्छी है और इटली ने भारत में बड़े पैमाने पर निवेश भी किया है। यही नहीं इटली की कई बड़ी कंपनियों जैसे फिएट, पिआजियो, न्यू हॉलैंड ट्रैक्टर, बेनेटन इंडिया, एनसाल्डो आदि का भारत में काफी बड़ा बाजार है। भारत में  दिल्ली यूनिवर्सिटी, जामिया मिलिया इस्लामिया, जेएनयू जैसी यूनिवर्सिटी में इटैलियन लैंग्वेज कोर्सेस चलाए जाते हैं।

यहां से कर सकते हैं शॉर्ट और लॉन्ग टर्म कोर्स 
- डीयू से पार्ट टाइम सर्टिफिकेट, डिप्लोमा और एडवांस डिप्लोमा के अलावा बीए आॅनर्स, एमए और पीएचडी कर सकते हैं। इसके अलावा जामिया मिलिया इस्लामिया में एक वर्षीय कोर्स, जेएनयू में वन ईयर पार्ट टाइम डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स हैं। इटैलियन एम्बैसी से जुड़ा द इटैलियन कल्चरल सेंटर दिल्ली स्थित बेस्ट इंस्टीट्यूट है। मुंबई यूनिवर्सिटी, इंडो-इटालियन चैंबर आॅफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री और बीएचयू से भी इसके कोर्स किए जा सकते हैं। 

वित्तीय मदद भी उपलब्ध है 
- हर साल इटली सरकार अपने विदेश मंत्रालय के माध्यम से इटैलियन भाषा की पढ़ाई करने वाले स्टूडेंट्स को स्कॉलरशिप देती है। हर साल कई भारतीय स्टूडेंट्स इटली भाषा में अपनी लैंग्वेज स्किल्स को बेहतर करने के लिए स्कॉलरशिप लेकर इटली जाते हैं। विदेश मंत्रालय द्वारा दी जाने वाली लैंग्वेज स्कॉलरशिप 3 से 6 महीने की होती है। इटैलियन गवर्नमेंट भी हर महीने स्टूडेंट्स को 900 यूरो स्कॉलरशिप के रूप में देती है। 

मजबूत हैं संभावनाएं 
- बैंकों, फिएट, बेनेटन, लॉयड, फरारी, मारकोनी और पिनाकल जैसी इटैलियन कंपनियों ने हमारे देश में अपने बिजनेस स्थापित किए हैं और इन्हें इटैलियन लैंग्वेज जानने वाले कर्मचारियों की तलाश रहती है। इटैलियन भाषा में स्पेशलाइजेशन के बाद आप दिल्ली, मुंबई, पुणे, बेंगलुरु, चेन्नई, गुड़गांव, नोएडा, हैदराबाद जैसे देश के बड़े शहरों और दूसरे हिस्सों में अपने लिए इस भाषा से जुड़े जॉब्स हासिल कर सकते हैं। एसेंचर, अमेजन, टीसीएस, इंफोसिस जैसी नेशनल और इंटरनेशनल कंपनियों में भी इटैलियन जानने वाले कर्मचारियों की मांग रहती है। आउटसोर्सिंग ने भी एमएनसी, बीपीओ और केपीओ के कई क्षेत्रों में इस लैंग्वेज के स्पेशलिस्ट की मांग को बढ़ाया है। इंटरप्रिटर, ट्रेनर, प्रूफरीडर और कंटेंट राइटिंग जैसे पारंपरिक क्षेत्रों में भी अच्छे मौके हैं जिनका फायदा आप उठा सकते हैं। 


 
   

Next News

ग्लोबल स्टेज पर बढ़ा है पुर्तगाली भाषा का स्कोप

पुर्तगाली भाषा के साथ संस्कृति को सीखने के लिए गोवा में अच्छे मौके मौजूद हैं

कॉर्पोरेट वर्ल्ड में कॅरिअर के अच्छे मौके देती है कोरियन लैंग्वेज

पोस्को और सैमसंग जैसी कंपनी भी स्टूडेंट्स को फेलोशिप देती हैं। 

Array ( )