कॉर्पोरेट वर्ल्ड में कॅरिअर के अच्छे मौके देती है कोरियन लैंग्वेज

पोस्को और सैमसंग जैसी कंपनी भी स्टूडेंट्स को फेलोशिप देती हैं। 


एजुकेशन डेस्क। कोरियन भाषा साउथ कोरिया व नाॅर्थ कोरिया की ऑफिशियल लैंग्वेज है। आज दक्षिण कोरिया दुनिया का 5वां सबसे बड़ा निर्यातक देश है जबकि भारत को एक्सपोर्ट करने वाला यह छठा सबसे बड़ा देश है। दोनों देशों के बीच मजबूत आर्थिक व सांस्कृतिक संबंधों की वजह से कोरियन लैंग्वेज के विशेषज्ञों के लिए दोनों ही देशों में कॅरिअर के शानदार मौके हैं। खासकर टेक्निकल डिग्री जैसे बीटेक, एमटेक, एमबीए करने के बाद कोरियन लैंग्वेज एक्सपर्ट्स के लिए पॉस्को, एलजी, सैमसंग, किया मोटर जैसी कोरियन कंपनियों में जॉब के शानदार अवसर हैं। 

यहां से सीख सकते हैं लैंग्वेज 
- भारतीय स्टूडेंट्स कोरियन लैंग्वेज से शॉर्ट टर्म सर्टिफिकेट कोर्स या एक साल का डिप्लोमा कोर्स करने के अलावा कोरियन लैंग्वेज में बैचलर्स और मास्टर्स डिग्री कोर्स भी कर सकते हैं।
- आप देश की टॉप यूनिवर्सिटीज जैसे जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी, डीयू, सेंट्रल यूनिवर्सिटी आॅफ झारखंड, इंग्लिश एंड फॉरेन लैंग्वेज यूनिवर्सिटी, मणिपुर यूनिवर्सिटी व जामिया मिलिया इस्लामिया में एडमिशन ले सकते हैं। 


मिल सकती है स्कॉलरशिप 
- अगर आप इस लैंग्वेज में यूजी, पीजी या पीएचडी जैसे डिग्री कोर्स किसी साउथ कोरिया यूनिवर्सिटी से करते हैं तो आप कोरियन गवर्नमेंट स्कॉलरशिप के लिए आवेदन कर सकते हैं।
-  इसी तरह 6 महीने या साल भर के लिए कोरियन लैंग्वेज की पढ़ाई या रिसर्च करने वाले स्टूडेंट्स कोरिया फाउंडेशन स्कॉलरशिप के लिए आवेदन कर सकते हैं।
- पोस्को व सैमसंग जैसी कंपनी भी स्टूडेंट्स को फेलोशिप देती हैं। 


इंटरनेशनल एक्सपोजर 
- कॉर्पोरेट वर्ल्ड में कॅरिअर का गेटवे है कोरियन लैंग्वेज। पॉस्को जायंट कोरिया की एक प्रमुख कंपनी है जिसका भारत में सबसे ज्यादा फॉरेन डायरेक्ट इंवेस्टमेंट है। इसके अलावा दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल कंपनी सैमसंग, दूसरी सबसे बड़ी मैन्यूफैक्चरिंग कंपनी ह्यूंडई और आपकी रोजमर्रा की जरूरतों को पूरा करने वाली कंपनी एलजी का भारत में बड़ा निवेश है। आप इन कंपनियों में अवसर तलाश सकते हैं। 


जॉब के लिए ढेरों हैं मौके 
- फॉरेन लैंग्वेज से जुड़े कॅरिअर के मौके तो यह लैंग्वेज आपको देती ही है साथ ही आईटी, मैन्यूफैक्चरिंग, ऑटोमोबाइल, शिप बिल्डिंग, न्यूक्लियर प्लांट आदि से जुड़कर भविष्य शुरू करने के शानदार मौके भी देती है।
-  कोरियन लैंग्वेज के जानकार दोनों ही देशों की एमएनसी जैसे टाटा मोटर्स, महिंद्रा मोटर्स, आदित्य बिड़ला ग्रुप, टीसीएस, इंफोसिस, सैमसंग, एलजी, आॅरेकल, एचपी आदि में जॉब के लिए भी अवसर तलाश सकते हैं। 
 

Next News

इटैलियन सीखना है फायदेमंद, मिलते हैं कई जॉब ऑप्शन

इटैलियन दुनिया में चौथी सबसे ज्यादा पढ़ी जाने वाली भाषा है।

जानें परीक्षा पैटर्न और कैसे करें IBPS PO के एग्जाम की तैयारी 

इस साल 13 अक्टूबर को यह परीक्षा 3562 पदों के लिए आयोजित होने वाली है।

Array ( )