जेफ वीनर के 4 फॉर्मूले, जिन्होंने उन्हें सफल लीडर बनाया

लिंक्डइन सीईओ ने बताई हैं वे टेक्निक्स जिन्होंने उन्हें बतौर लीडर अपना मुकाम पाने में मदद दी है।  

जेफ वीनर के 4 फॉर्मूले, जिन्होंने उन्हें सफल लीडर बनाया 

Success Mantra। लिंक्डइन सीईओ जेफ वीनर ग्लासडोर के टॉप रैंक्ड लीडर्स में से एक हैं। लेकिन जेफ की इस मैनेजमेंट स्टाइल को डेवलप होने में कई साल लगे हैं। सन 2000 के शुरुआती सालों में याहू में काम करने का अनुभव बताते हुए वीनर कहते हैं, उस वक्त मैं जवाब देने के लिए सुनता था, समझने के लिए नहीं। मैं दूसरे लोगों से उम्मीद करता था कि वे उसी तरह से काम करें जैसे मैं करता था और जब वे ऐसा नहीं करते थे तो मुझे गुस्सा अाता था। लेकिन बाद में दलाई लामा से प्रेरित होकर जेफ ने अपनी इस अप्रोच को बदलने की प्रैक्टिस शुरू की। इस सिलसिले में उन्होंने अपनी प्राथमिकताओं को व्यवस्थित किया। ये प्रैक्टिसेज सामान्य थीं लेकिन इनकी बदौलत जेफ लोगों और अपने स्ट्रैटजिक विजन को डेवलप कर पाए। जो कि किसी भी संस्थान में बतौर लीडर उभरने के लिए जरूरी था। नए आंत्रप्रेन्योर्स के लिए जेफ के ये अनुभव काफी काम के हो सकते हैं - 

डेली रूटीन की ताकत का इस्तेमाल 
जैसे-जैसे वीनर ने ज्यादा जिम्मेदारियां हाथ में लीं उन्होंने डेली रूटीन की ताकत को सराहना सीखा। वीनर के मुताबिक हर दिन के टार्गेट की जानकारी ने फोकस को आसान बना दिया। रोजाना सुबह से रात तक के कामों में जेफ सुनिश्चित करते हैं कि वे प्रोफेशनल टास्क के साथ-साथ घर के कामों के लिए भी समय निकालेंगे। इसके साथ ही जेफ हर दिन एक अच्छी नींद की हिमायत भी करते हैं। डेली रूटीन्स का वीनर पर एक प्रभावशाली असर रहा है। जेफ कहते हैं, मेरे पिता हर रात सोने से पहले मुझसे कहते थे, तुम हर वह चीज कर सकते हो जो तुमने अपने दिमाग में सेट की है और वे इस बात को इतनी बार कहते थे कि यह बिल्कुल दिमाग में स्टोर हो चुकी थी और उनका दिया वह फॉर्मूला आज तक मेरे काम आ रहा है। 

टाइम की शेड्यूलिंग
वीनरके रूटीन में ऐसे टाइम स्लॉट्स होते हैं जहां कुछ भी शेड्यूल नहीं होता। वे इनका इस्तेमाल दिन के 90 मिनटों के रूप में इंफॉर्मेशन को प्रोसेस करने, ईमेल्स करने और अचानक होने वाले संवाद व मेंटरशिप के लिए करते हैं। वे कहते हैं यह टाइम प्रॉडक्टिविटी और क्रिएटिविटी को बढ़ाने में काम आता है। 

स्ट्रैटजी में बदलाव
किसी भी नए लीडर के लिए सबसे महत्वपूर्ण होता है कि किस तरह वह जरूरत से ज्यादा मुश्किल एग्जीक्यूशन पर कम फोकस करें और ज्यादा वक्त स्ट्रैटजिक थिंकिंग को दे। यह शिफ्ट किसी भी स्टार्टअप फाउंडर या नए मैनेजर के लिए मूलभूत बदलाव है। जेफ की राय में यह सुनने में बेहद सामान्य लगता है, लेकिन यह इतना आसान भी नहीं है। याद रखें अगर आप बदलाव के बारे में नहीं सोचते तो आप नुकसान में रहेंगे। 

सही ट्रेनिंग देना जरूरी है 
छोटी कंपनियों के लीडर्स प्रॉब्लम सोल्वर्स की भूमिका निभाते हैं। लेकिन यह जरूरी है कि टीम के सभी लीडर्स के पास प्रॉब्लम सोल्विंग स्किल्स हों। इसके लिए आप अपनी कंपनी के सभी लीडर्स को ट्रेनिंग देकर अपनी लीडरशिप पहुंच को विस्तृत बना सकते हैं और खुद को महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों के लिए फ्री रख सकते हैं और यही बात आपके संस्थान को उन्नति देगी। 
 

Next News

जब ईश्वर की कृपा बरसे तो विनम्र और जमीन से जुड़े रहें: एन. रघुरामन 

ईश-कृपा होने पर विनम्र और जमीन से जुड़े रहते हैं तो कृपा और तेजी से बरसती है तथा सफलता को और नज़दीक लाती है। 

होंठ भले ही तारीफ न करें, पर तृप्त पेट जरूर करेगा: एन. रघुरामन

गरीबों के होठों पर भले प्रशंसा के शब्द न आएं लेकिन उनका पेट व दिल हमेशा प्रशंसा करता है।

Array ( )