JEE Main / दूसरा दिन की पहली शिफ्ट में मैथ्स फिजिक्स का सेक्शन टफ

वहीं शिफ्ट-2 में केमेस्ट्री का पोर्शन स्टूडेंट्स को मुश्किल लगा

एजुकेशन डेस्क। एनटीए की ओर से आयोजित ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम (जेईई) अटेम्प्ट-1 का गुरुवार को दूसरा दिन था। इस दिन दोनों शिफ्ट के पेपर पहले दिन की तुलना में कुछ कठिन रहे। विशेषज्ञों के अनुसार पेपर ओवरऑल मॉर्डरेट कैटेगरी का रहा, लेकिन शिफ्ट-1 में फिजिक्स का पोर्शन काफी लंबा और टाइम टेकिंग था, जबकि मैथ्स का पोर्शन खासा टफ आया। वहीं शिफ्ट-2 में केमेस्ट्री का पोर्शन स्टूडेंट्स को मुश्किल लगा।

पेपर आसान हो या कठिन, परसेंटाइल पर असर नहीं होगा
- एक्सपर्ट सुहाग करिया के मुताबिक, एग्जाम के बाद स्टूडेंट्स और पेरेंट्स के मन में परसेंटाइल और रैंक को लेकर कन्फ्यूजन होता है। पेरेंट्स इस बात से परेशान हाेते हैं कि अलगअलग स्लॉट्स में होने वाले पेपर का डिफिकल्टी लेवल अलग होगा और इसका असर परसेंटाइल या रैंक पर पड़ेगा। लेकिन टफ या ईजी होने से परसेंटाइल पर कोई असर नहीं पड़ता। हर स्लॉट में शामिल होने वाले बच्चों के परसेंटाइल अलग निकाले जाएंगे। स्लॉट यदि आसान या कठिन है, तो उस स्लॉट के सभी बच्चों के लिए आसान या कठिन होगा और अंकों के आधार पर ही परसेंटाइल तय होंगे।


NCERT सिलेबस से सवाल
शिफ्ट-1 में फिजिक्स का पोर्शन बहुत लंबा आया, जिसमें मैकेनिकल के सवाले मुश्किल थे। वहीं फिजिक्स में बहुत से सवाल 11वीं के सिलेबस से भी पूछे गए। पेपर में मैग्नेटिज्म, इलेक्ट्रिसिटी, करेंट और ऑप्टिक्स से कई सवाल पूछे गए। मैथ्स का सेशन टाइम कंज्यूमिंगऔर केल्कुलेशन बेस्ड था। अधिकतर सवाल इंटीग्रेशन, 3-डी और वेक्टर से पूछे गए। वहीं, केमेस्ट्री का पोर्शन खासा आसान आया। अधिकतर सवाल एनसीईआरटी के सिलेबस से डायरेक्ट पूछ लिए गए थे।


मैथ्स आसान लेकिन टाइम कंज्यूमिंग था
शिफ्ट-2 में फिजिक्स का पोर्शन मॉर्डरेट टूडिफिकल्ट कैटेगरी में रखा जा सकता है। इस पोर्शन में मोमेंट ऑफ इनर्शिया, मैकेनिक्स, इलेक्ट्रोस्टेटिक्स से कई सवाल पूछे गए। जबकि मैथ्स का सेक्शन आसान मगर टाइम कंज्यूमिंग था। इसमें डिफरेंशियल के सवाल कुछ टफ थे, लेकिन ज्यॉमेट्री, ट्रिग्नोमेट्री, केलकुलस ओर प्रोबेबिलिटी के सवाल ज्यादा पूछे गए। वहीं केमेस्ट्री का पोर्शन माॅर्डरेट था, इसमें मोलेरिटी, मोल फैक्शन और कोऑर्डिनेट कंपाउंड के सवाल ज्यादा पूछे गए।
 

Next News

जेईई मेन्स / ओवरऑल सरल रहा पेपर, लेकिन दोनों शिफ्ट में फिजिक्स के सवालों ने उलझाया

दोनों शिफ्ट में केमेस्ट्री सबसे आसान रहा, मैथ्स एवरेज

Array ( )