IIT एडमिशन: कैंडिडेट्स एक बार में 125 से ज्यादा च्वॉइस फिल कर सकेंगे

च्वॉइस फिलिंग के लिए छात्र-छात्राओं को नहीं देना होगा शुल्क, 15 जून से होगी च्वॉइस फिलिंग की शुरुआत

एजुकेशन डेस्क, ग्वालियर। जेईई एडवांस्ड का रिजल्ट आने के बाद आईआईटी में एडमिशन के लिए 15 जून से रजिस्ट्रेशन और च्वॉइस फिलिंग की शुरुआत हो जाएगी। देश के 23 आईआईटी में एडमिशन के लिए स्टूडेंट्स को एक बार ही च्वॉइस फिलिंग का मौका मिलेगा। एक बार में ही 125 से ज्यादा च्वॉइस फिलिंग के विकल्प उनके पास रहेंगे। साथ ही इसके लिए कोई शुल्क भी नहीं है।  साथ ही इनके लिए रिपोर्टिंग सेंटर तय किए जा चुके हैं। ग्वालियर के एबीवी ट्रिपल आईटीएम को भी रिपोर्टिंग सेंटर बनाया गया है। इसके इंचार्ज डॉ. जॉयदीप धर ने बताया कि इस बार आईआईटी में स्टूडेंट्स 125 से ज्यादा च्वॉइस फिल कर सकेंगे। इसके लिए वह प्राथमिकता के आधार पर चयन करें।  

 

NIT, IIIT, GFTI में 590 च्वॉइस फिल कर सकेंगे स्टूडेंट्स 

- आईआईटी के अलावा बात एनआईटी, ट्रिपल आईटी और जीएफटीआई की करें तो स्टूडेंट्स एक बार में 590 से ज्यादा च्वॉइस फिल कर सकेंगे। ज्वॉइंट सीट एलोकेशन अथॉरिटी (जोसा) पहले ही आईआईटी, एनआईटी, ट्रिपल आईटी और जीएफटीआई के लिए काउंसिलिंग शेड्यूल जारी कर चुकी है।

 

ड्यूल रिपोर्टिंग का रखना होगा ध्यान 

डॉ. जॉयदीप धर ने बताया कि ड्यूल रिपोर्टिंग का ध्यान स्टूडेंट्स को रखना होगा। 2017 में 57 स्टूडेंट्स को जोसा से बाहर कर दिया गया था, क्योंकि उन्होंने इस पर ध्यान नहीं दिया। जोसा की ओर से वेबसाइट पर बिजनेस रूल्स जारी किए गए हैं, स्टूडेंट्स उन्हें ठीक तरह से पढ़ लें , ताकि आगे किसी भी तरह की गलती नहीं हो। 

 

क्या है ड्यूल रिपोर्टिंग 

- उदाहरण के तौर पर च्वॉइस फिलिंग के आधार पर किसी स्टूडेंट्स को पहले आईआईटी में सीट मिल रही है तो उसे आईआईटी के रिपोर्टिंग सेंटर पर रिपोर्ट करना होगा।
- इसके बाद उसे एनआईटी में पसंदीदा ब्रांच पर सीट अलॉट होती है और वह एनआईटी की सीट लेना चाहता है तो उसे दोबारा एनआईटी के रिपोर्टिंग सेंटर पर रिपोर्ट करनी होगी। यह प्रक्रिया ड्यूल रिपोर्टिंग में आती है। 

 

काउंसिलिंग में सहूलियत 

इस बार काउंसिलिंग के समय स्टूडेंट्स को कुछ राहत दी गई है। पहले काउंसिलिंग के समय जनरल और ओबीसी कैटेगरी वाले स्टूडेंट्स को 45 हजार रुपए जमा करना होते थे, लेकिन इस बार उन्हें 35 हजार रुपए जमा करना होंगे। शेष 10 हजार रुपए बाद में बाद में भरना होंगे। 

 

सीट मैट्रिक्स में यह जानकारी अलग से 

- जोसा की ओर से सीट मैट्रिक्स भी जारी कर दी गई है। 
- इस बार आईआईटी, एनआईटी या ट्रिपल आईटी की सभी ब्रांच की कुल सीट संख्या और ब्रांच में गर्ल्स के लिए कितनी नई सीट हैं, इसकी संख्या भी दी इसमें दी गई है। साथ ही प्रक्रिया भी दी गई है। 

 

15 जून से शुरू होगा रजिस्ट्रेशन 

- आईआईटी, एनआईटी और दूसरे गवर्नमेंट फंडेड टेक्निकल इंस्टीट्यूट्स का काउंसलिंग शेड्यूल जारी कर दिया गया है।
- ज्वाइंट सीट एलोक्यूशन अथॉरिटी (जोसा) की ओर से जारी शेड्यूल के मुताबिक, 15 जून से जेईई मेन्स और एडवांस क्लीयर करने वाले स्टूडेंट्स के लिए रजिस्ट्रेशन और च्वॉइस फिलिंग की प्रक्रिया शुरू होगी। 
- सीट अलॉटमेंट का पहला राउंड 27 जून को होगा। 

 

सीट एक्सेप्टेंस के लिए मिलेंगे पांच दिन 

- रजिस्ट्रेशन और च्वॉइस फिलिंग के बाद 19 से 24 जून के बीच मॉक सीट अलॉमेंट की जाएगी। 
- 27 जून को लिस्ट जारी होने के बाद 2 जुलाई तक स्टूडेंट्स को सीट्स एक्सेप्ट करनी होगी। इसके लिए उन्हें रिपोर्टिंग सेंटर पर जाना होगा। 

Next News

जेईई मेन पेपर-2 की आंसर शीट के लिए आवेदन शुरू, फीस 500 रुपए

इंटरेंस्टेड कैंडिडेट 30 जून तक अप्लाय कर सकता है।

आईआईटी एडमिशन: सीट मैट्रिक्स जारी, जाने कहां कितनी सीटें

एनआईटी में भी सुपरन्यूमरेरी के तहत आवंटित सीटों की संख्या भी ब्रांच वार जारी कर दी गई है।

Array ( )