सफल होने के लिए अपने अंदर के बीज को पहचानिए और उसे सींचिए- अक्षय कुमार

कोई भी मार्कशीट जिंदगी से बढ़कर नहीं है

FIRST PERSON। सफलता एक रात में नहीं मिलती, ऐसा कभी नहीं होने वाला कि आप एक साधारण व्यक्ति की तरह रात को सोएंगे और सुबह उठेंगे तो स्टार बन चुके होंगे। सफलता के लिए प्रयास करने होते हैं, ईमानदार प्रयास। अनुशासित होना पड़ता है क्योंकि जो आप पाना चाहते हैं, उसे पाने के लिए और लोग भी लाइन में हैं। आपको खुद को उनसे बेहतर साबित करना होता है। बिना मेहनत के ऐसा संभव नहीं है। सफल होने के लिए अपने अंदर के बीज को पहचानिए और उसे सींचिए। 


माता-पिता की होती है अहम भूमिका
- माता-पिता की इसमें अहम भूमिका होगी। जिस दिन मुझे नेशनल अवाॅर्ड मिला, मैंने अपनी मां को फोन किया और शुक्रिया कहा। उस दिन मैंने उन्हें अपने स्कूल के दिनों की एक घटना याद दिलाई। मैं परीक्षा में फेल हो गया था। मार्कशीट लेकर पिता के पास पहुंचा तो सोचा पिटाई होगी लेकिन इसके उलट मेरे पिता ने बहुत शांति से पूछा कि अगर मैं पढ़ना नहीं चाहता तो क्या करना चाहता हूं। मैंने कहा कि मैं स्पोर्ट्स में आगे बढ़ना चाहता हूं, मार्शल आर्ट्स सीखना चाहता हूं। 
- मेरे पिता एक मध्यमवर्गीय व्यक्ति थे लेकिन उन्होंने मेरे पैशन को आगे बढ़ाने के लिए मुझे बैंकाॅक भेजा, जहां मैंने मार्शल आर्ट सीखी। आखिर में इसी ने मुझे फिल्म इंडस्ट्री में काम दिलवाया इसलिए मेरी सलाह यही है कि आप अपने अंदर के बीज को पहचानिए और उसे पेड़ बनने का मौका दीजिए। 


तनाव हो तो मदद मांगिए 
- मैं यह कतई नहीं कह रहा कि आप पढ़ाई पर ध्यान न दें। पढ़ाई बहुत जरूरी है, यह आपमें समझ को विकसित करती है। इसका कोई विकल्प नहीं है, लेकिन यह जीवन का सिर्फ एक हिस्सा है, पूरी जिंदगी नहीं। 
- जब मैं सुनता हूं कि किसी युवा ने असफलता की वजह से आत्महत्या कर ली है तो बहुत दुखी होता हूं। मैं आप युवाओं से अपील करता हूं कि कोई भी मार्कशीट, कोई परीक्षा और किसी रिश्ते का मोल इस जीवन से बड़ा नहीं है। 
- अगर आप दबाव में हैं तो मदद मांगिए। आपको बुखार होता है तो आप डाॅक्टर से मदद मांगते वक्त शर्माते नहीं हैं तो तनाव को भी इसी तरह लीजिए। किसी अच्छे काउंसलर से मदद लीजिए। 


बुरी नहीं है असफलता 
- असफलता अच्छी चीज है, उसे स्वीकार कीजिए। लोग गलत कहते हैं कि अवसर आपके द्वार खटखटाते हैं। अवसर कभी आता नहीं है, यह अपनी मेहनत से बनाया जाता है। मेहनत करते रहिए और अवसर भी आते रहेंगे।
- मेरा अनुभव है कि काम को काम खींचता है। अक्सर लोग काम को छोटे और बड़े की कैटेगरी में बांटते हैं, कोई भी काम छोटा नहीं है। कोई बड़ी चीज एक साथ नहीं बनती, वह ढेरों छोटी-छोटी चीजों से मिलकर बनी होती है।
- काम का पैमाना मत देखिए जो मिले उसे पूरी शिद्दत से कीजिए। मत भूलिए कि आसमान छूने के लिए पहले मिट्टी का स्वाद चखना होता है। 

Next News

सफलता इंतजार करवाती है, धैर्य रखना जरूरी : राहुल द्रविड़

संघर्ष करना जरूरी है और सफलता व असफलता दोनों ही इसके हिस्से हैं। आपको दोनों का सामना करना पड़ेगा। 

सफलता मेहनत के रास्ते ही मिल सकती है : महेंद्र सिंह धोनी

जटिलता के बजाय चीजों को साधारण तरीके से करने को महत्व दें क्योंकि यह तरीका व्यावहारिक है 

Array ( )