भारतीयों के लिए ब्रिटेन का स्टूडेंट वीसा लेना हुआ और मुश्किल

ब्रिटेन ने स्टूडेंट्स के लिए आसान वीसा नियम वाले देशों की सूची से भारत को बाहर किया

एजुकेशन डेस्क। ब्रिटेन में सरकार ने विश्वविद्यालयों में वीसा आवेदन प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए बनाई नई सूची से भारतीय विद्यार्थियों को अलग कर दिया है। आव्रजन नीति में बदलावों को संसद में शुक्रवार को पेश किया गया। ब्रिटेन के गृह मंत्रालय ने 25 देशों के विद्यार्थियों के लिए टियर-4 वीसा श्रेणी में ढील की घोषणा की है। इसमें भारत नहीं है। हालांकि, चीन, बहरीन व सर्बिया जैसे देश शामिल किए हैं। यूके काउंसिल फॉर इंटरनेशनल स्टूडेंट अफेयर्स के अध्यक्ष लार्ड करण बिलमोरिया ने इसे भारत का 'अपमान' बताया है। 

सूची में शामिल नहीं करने से यह होगा 

- ब्रिटेन की नई विस्तारित सूची में भारत को शामिल नहीं किया गया है। 
- इसका मतलब यह हुआ कि समान पाठ्यक्रमों के लिए आवेदन करने वाले भारतीय विद्यार्थियों और उनके दस्तावेजों की कड़ी जांच होगी।
- जिन देशों को शामिल किया है, उनके विद्यार्थियों को ब्रिटेन के विश्वविद्यालयों में दाखिले के लिए शिक्षा, वित्त एवं अंग्रेजी भाषा जैसे मानकों पर कड़ी जांच से नहीं गुजरना होगा। 
- बदलाव 6 जुलाई से लागू होगा। 

Next News

यूनिवर्सिटीज को अब हर साल कराना होगा दीक्षांत समारोह

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने नोटिफिकेश जारी कर सभी यूनिवर्सिटीज को यह आदेश दिया।

अारयू: स्टूडेंट्स के सर्टिफिकेट अब देखे जा सकेंगे ऑनलाइन, 2019 तक नहीं देना होगा शुल्क

एनएडी के साथ रांची विवि का एमओयू, 30 जून तक सर्टिफिकेट किए जाएंगे अपलोड।

Array ( )