काम की आजादी और बेहतर आय के लिए चुन सकते हैं फ्रीलॉन्सिंग

डिजिटल पेमेंट फर्म पेपाल की रिसर्च के अनुसार, भारत विश्व में फ्रीलान्सिंग का सबसे बड़ा मार्केट बन गया है। देश में फ्रीलांसर्स औसतन 19 लाख सालाना कमा रहे हैं।

एजुकेशन डेस्क । डिजिटल पेमेंट फर्म पेपाल की रिसर्च के अनुसार, भारत विश्व में फ्रीलान्सिंग का सबसे बड़ा मार्केट बन गया है। इनसाइट्स इंटू दी फ्रीलांसर्स इकोसिस्टम नामक इस रिसर्च के मुताबिक देश में एक करोड़ फ्रीलांसर्स हैं। इतना ही नहीं देश में फ्रीलांसर्स औसतन 19 लाख सालाना कमा रहे हैं। जाहिर है, जॉब और आय के लिहाज से यह क्षेत्र एक मजबूत विकल्प के रूप में सामने आया है। ऐसे में अगर अाप पसंद का काम अपनी सहूलियत व बेहतर आय के साथ करना चाहते हैं तो फ्रीलान्सिंग से अपनी शुरुआत कर सकते हैं। 


इन क्षेत्रों में मिलेगा काम
कंटेंट राइटिंग, फाेटोग्राफी, ट्रांसलेशन, एसईओ, डिजिटल मार्केटिंग, डेटा साइंस आदि ऐसे क्षेत्र हैं जहां फ्रीलांसर्स की खासी मांग है। पेपाल सर्वे में पाया गया कि वेब एंड मोबाइल डेवलपमेंट, इंटरनेट रिसर्च व डेटा एंट्री भारतीय फ्रीलांसर्स के फोकस एरिया हैं। इसके अलावा अकाउंटिंग, डिजाइन व कंसल्टेंसी जैसे क्षेत्रों में भी फ्रीलांसर्स बढ़े हैं। 
 

काम के बेस्ट प्लेटफॉर्म्स 
इंटरनेट पर कई ऐसे प्लेटफॉर्म्स मौजूद हैं जिनकी मदद से आपको फ्रीलांस प्रोजेक्ट्स मिल सकते हैं। इसमें आप अपवर्क, फ्रीलांसर और गुरु जैसी वेबसाइट्स की मदद ले सकते हैं। डिजिटल मार्केटिंग, डिजाइनिंग, राइटिंग जैसे शॉर्ट टर्म प्राेजेक्ट्स के लिए फिवेर वेबसाइट की मदद ली जा सकती है। डिजाइनिंग वर्क के लिए 99 डिजाइनिंग भी खासी मशहूर है। 


इस तरह कर सकते हैं अपनी शुरुआत


सबसे पहले तय करें जॉब एरिया
अपनी पढ़ाई व अनुभव के आधार पर अपने काम का क्षेत्र तय करें। नई स्किल्स सीखकर भी काम का दायरा बढ़ाएं। मसलन सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग की पढ़ाई नहीं की है, लेकिन कोडिंग की अच्छी नाॅलेज है तो भी आपको फ्रीलान्सिंग प्रोजेक्ट्स मिल सकते हैं। उडेमी, कोर्सेरा जैसी वेबसाइट्स इसमें मदद करेंगी। काम का एरिया तय होने के बाद उस पर फोकस करें।


बेहतरीन पोर्टफोलियो तैयार करें 
आपके पास अच्छे प्रोजेक्ट तभी आएंगे जब आपका आउटपुट बेहतरीन होगा। ऐसे में अपने काम का पोर्टफोलियो तैयार करें जिसमें आपके वर्क प्रोफाइल की अपडेटेड जानकारी हो। आपको काम देने से पहले क्लाइंट आपकी प्रोफाइल पर विजिट करेगा। इसके लिए अपने बेस्ट प्रोजेक्ट्स की डिटेल्स सोशल मीडिया पर अपलोड करें। 


तय करें काम की कीमत 
हालांकि हर प्रोजेक्ट पर काम के मुताबिक पैसा तय होता है, लेकिन एक स्टैंडर्ड कीमत तय करने से आपकी मार्केट में वैल्यू बनेगी। कई वेबसाइट्स घंटों, सप्ताह तो कई प्रति प्रोजेक्ट के हिसाब से पेमेंट करती हैं। आपको उनके पेमेंट मोड की भी जानकारी होनी चाहिए। कई वेबसाइट्स पर प्रोजेक्ट्स को लेने के लिए बोलियां भी लगती हैं, इस बारे में भी पूरी पड़ताल करें। 


सीधे करना होगा संपर्क
काम के लिए आपको सीधे कंपनी से संपर्क करना चाहिए। कुछ जगह आपके प्रपोजल रिजेक्ट होंगे तो कहीं स्वीकार किए जाएंगे। इसके अलावा सोशल मीडिया की मदद से भी आपको अपने काम का प्रमोशन करना चाहिए। हो सकता है शुरुआत में आपका काम रिजेक्ट भी हो, लेकिन कामयाबी मिलने तक आपको धैर्य बनाए रखना होगा।

Next News

हैदराबाद में डिजिटल मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव के लिए वैकेंसी, घर बैठे करें आवेदन

इस फील्ड में अनुभव रखने वाले आवेदकों को जॉब में प्राथमिकता दी जाएगी। आवेदक का ट्रेंड ग्रेजुएट होना जरूरी है। 

टेक्नोलॉजी और प्रोग्रामिंग में इंटरेस्टेट कैंडिडेट्स के लिए 10 बेस्ट करियर ऑप्शन

नए सॉफ्टवेयर, मोबाइल एप्लीकेशन, डाटाबेस मैनेजनेंट में इंटरेसट रखते हैं तो बताए गए कोर्स आपके लिए उपयोगी हो सकते हैं।

Array ( )