Articles worth reading

मेन एग्जाम 4 नवंबर को आयोजित किया जाएगा।

नीट मेडिकल और डेंटल एंट्रेंस एग्जाम

यह परीक्षा 30 अप्रैल, 2018 को यमुनानगर

मेंटल हैल्थ के क्षेत्र में शिक्षा और रोज़गार की संभावनाए, जानें क्या और कहां करनी चाहिए पढ़ाई

डॉक्टर बनने के लिए क्या करना चाहिए ? क्या और कहां पढ़ाई करनी चाहिए…यह यहां पढ़िए।

एजुकेशन डेस्क। मेंटल का मतलब पागल नहीं होता है। कई कारणों से मानव शरीर में मानसिक तौर पर कमी आ जाती है। यह भी एक प्रकार का रोग है जिसका इलाज करवाने के लिए  परामर्शदाता, अस्पताल या डॉक्टर के पास जाना होता है। इसके लिए अलग डॉक्टर होते हैं। ऐसा डॉक्टर बनने के लिए क्या करना चाहिए ? क्या और कहां पढ़ाई करनी चाहिए…यह यहां पढ़िए

मनोरोग चिकित्सा क्या है?
- मनोरोग चिकित्सा मेडिकल की वह शाखा है जो भावना, संज्ञान और व्यवहार को प्रभावित करने वाले विभिन्न मानसिक विकारों या मनोरोगों के आकलन, पहचान, उपचार और प्रबंधन से जुड़ी है। मनोचिकित्सा में विशेषज्ञता हासिल करने वाले डॉक्टरों को मनोरोग चिकित्सक कहा जाता है।

मानसिक और शारीरिक तनावों का इलाज
- मनोरोग चिकित्सक एक डॉक्टर होता है जिसे मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं की पहचान और उपचार में विशेषज्ञता हासिल होती है। अपनी सघन और व्यापक मेडिकल ट्रेनिंग के दौरान, मनोचिकित्सक को मस्तिष्क के कार्यों और शरीर और मस्तिष्क के जटिल संबंधों को समझने का प्रशिक्षण मिलता है। वे मानसिक और शारीरिक तनावों के शारीरिक और मनोवैज्ञानिक कारणों को अलग-अलग चिन्हित कर पाने में सबसे ज़्यादा योग्य होते हैं।

कौन-कौन से कॅरियर क्षेत्र हैं 

क्लीनिकल साइकोलॉजिस्ट

परामर्शदाता या काउंसलर

स्कूल साइकोलॉजिस्ट

फॉरेंसिक साइकोलॉजिस्ट

साइकिएट्रिस्ट 

साइकिएट्रिक सोशल वर्कर

न्यूरो साइकोलॉजिस्ट

ऑक्युपेशनल साइकोलॉजिस्ट

वोकेशनल साइकोलॉजिस्ट

 रिहैबिलिटेशन ऑफिसर

रिसर्चर आदि


कॅरियर बनाने के लिए क्या पढ़ें
- साइकोलॉजी के क्षेत्र में जाने के लिए किसी भी विषय समूह में न्यूनतम 50 प्रतिशत अंकों के साथ 10+2 करना जरूरी है। उसके बाद साइकोलॉजी में ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकते हैं। 
- साइकिएट्री के क्षेत्र में जाने के लिए फ़िज़िक्स, कैमिस्ट्री व बायोलॉजी विषयों से 10+2 करना जरूरी है। उसके बाद मेडिकल प्रवेश परीक्षा देकर एमबीबीएस करना होता है। उसके बाद साइकिएट्री में पोस्ट ग्रेजुएशन (एमडी या डिप्लोमा) करना होता है। डिप्लोमा ऑफ नेशनल बोर्ड एग्ज़ाम भी कर सकते हैं।

कहां कर सकते हैं पढ़ाई
साइकोलॉजी
-  भारत में लेडी श्रीराम कॉलेज नई दिल्ली, क्रिस्टु जयंती कॉलेज बेंगलुरू, फर्ग्युसन कॉलेज पुणे, क्राइस्ट यूनिवर्सिटी बेंगलुरू, जीसस एंड मेरी कॉलेज नई दिल्ली आदि।
- विदेश में यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया बर्कले, मिशिगन यूनिवर्सिटी, यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन, जैकब्स यूनिवर्सिटी ब्रेमेन, बोख़ुम यूनिवर्सिटी रूर आदि।

साइकिएट्री में
भारत में एम्स नई दिल्ली, एएमयू, आईआईटी खड़गपुर, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस बेंगलुरू, टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेस मुंबई आदि।
- विदेश में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी यूएसए, किंग्स कॉलेज लंदन, येल यूनिवर्सिटी, कैरोलिंस्का इंस्टीट्यूट स्वीडन, एम्सटर्डम यूनिवर्सिटी नीदरलैंड्स आदि।

 

Next News

12 वीं के बाद जानिए बीए इकोनॉमिक्स, बीबीए, बीकॉम में से क्या चुनें?

कॉमर्स से बारहवीं कर रहे हैं तो आपके लिए भी डिग्री कोर्स का चयन मुश्किल हो सकता हैं।

खेलने के शौकीन हैं तो स्पोर्ट्स मैनेजमेंट में भी है कई मौके

इंडियन प्रीमियर लीग, हॉकी प्रीमियर लीग की वजह से बढ़ रही प्रोफेशनल्स की मांग।

Array ( )