CBSE: परीक्षा में विकल्प प्रश्नों की संख्या बढ़ाएगा बोर्ड, 55 विषयों में मिलेगी सुविधा

अब पैरेंट्स से मनमानी फीस नहीं वसूल पाएंगे सीबीएसई स्कूल

एजुकेशन डेस्क। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) ने परीक्षार्थियों के मन से बोर्ड परीक्षा का डर दूर करने के लिए अहम कदम उठाया है। बोर्ड ने छात्र-छात्राओं की परेशानी को देखते हुए जहां मॉडल प्रश्न पत्र को अपलोड किया है। वहीं 2019 के कक्षा10वीं और 12वीं के बोर्ड परीक्षा के प्रश्न-पत्र में बदलाव किया है। 

- इस बार बोर्ड परीक्षाओं में विकल्प वाले प्रश्नों की संख्या अधिक होगी। फिलहाल विकल्प का यह अवसर 10वीं और 12वीं में कुल 55 विषयों में दिया जा रहा है। इसमें 12वीं क्लास में 40 विषयों और 10वीं में 15 विषयों के प्रश्नपत्र शामिल हैं। इन विषयों की परीक्षा में अब एक नहीं, बल्कि 10 से 11 प्रश्न विकल्प वाले होंगे। साथ ही पेपर के फॉर्मेट में संक्षिप्त प्रश्नों की संख्या बढ़ाई जाएगी। इसके आलवा सीबीएसई ने बोर्ड परीक्षाओं में इस साल प्राइवेट शामिल होने वाले छात्र-छात्राओं को राहत दी है। 

ऑनलाइन अपलोड किए मॉडल प्रश्न
छात्रों की सुविधा के लिए बोर्ड की वेबसाइट पर मॉडल प्रश्न-पत्र अपलोड कर दिए गए हैं। जहां से छात्र अपने पसंद के विषय का पेपर देख सकते हैं। इसके माध्यम से छात्र प्रश्न-पत्र के फॉर्मेट के बारे में पता चलेगा। साथ ही विद्यार्थी प्रत्येक प्रश्न से जुड़ी मार्किंग स्कीम के बारे में भी जान पाएंगे। खासतौर से वे संक्षिप्त प्रश्न के पैटर्न को समझ पाएंगे। 

इंप्रूवमेंट एक्जाम दे सकेंगे छात्र
-
 सीबीएसई से मान्यता प्राप्त स्कूलों में छात्रों को इंप्रूवमेंट एक्जाम देने का मौका मिलेगा। इसका फायदा यह होगा कि छात्र एक्जाम में अपनी परफॉर्मेंस को इंप्रूव कर पाएंगे। जेईई मेन एवं एडवांस्ड की तारीख घोषित होने के बाद सीबीएसई ने कक्षा 12वीं के इंप्रूवमेंट एक्जाम के ऑनलाइन आवेदन का नोटिस जारी किया है। इस परीक्षा में छात्रों को रीजन बदलने का अवसर मिलेगा। इसके लिए स्टूडेंट्स को सीबीएसई की वेबसाइट पर विजिट करना होगा। जहां उन्हें 12वीं बोर्ड का रोल नंबर, सेंटर नंबर, स्कूल नंबर आदि जानकारी भरकर लॉगिन करना होगा। 

कितने विषयों में दे सकते हैं इम्प्रूवमेंट, जानकारी स्पष्ट नहीं
जिन छात्र-छात्राओं ने आईआईटी व एनआईटी में प्रवेश के लिए 12वीं बोर्ड की पात्रता को पूरा नहीं कर पाए हैं, इनको कितने विषय में 12वीं बोर्ड इम्प्रूवमेंट परीक्षा देनी है, इससे संबंधित जानकारी सीबीएसई द्वारा जारी किए गए नोटिस में कहीं नहीं दी गई है। पिछले साल सीबीएसई व जेईई-मेन इनफॉर्मेशन बुलेटिन में स्पष्ट रूप से उल्लेख किया था। 

17 नवंबर तक फीस भरनी होगी ऑनलाइन
इस परीक्षा में आवेदन की आखिरी तारीख बिना किसी विलंब शुल्क के 17 नवंबर निर्धारित की है। स्टूडेंट्स के लिए परीक्षा शुल्क 5 विषयों के लिए 900 रुपए व अतिरिक्त विषय के लिए 180 रुपए रखा है। 17 नवंबर के बाद छात्र विलंब शुल्कों के साथ आवेदन कर सकते हैं। 

प्रैक्टिकल-थ्योरी साथ क्लियर होने पर माना जाएगा पास
बोर्ड परीक्षार्थी को अब किन प्रश्नों का जवाब देना है, वो उसे खुद तय कर पाएंगे। बोर्ड ने 2019 में भी उत्तीर्णता के लिए प्रैक्टिकल और थ्योरी को एक साथ पास करना अर्निवार्य कर दिया है। पहले यह केवल 2018 के लिए ही लागू था, लेकिन इस साल से सीबीएसई ने इस पैटर्न को प्रैक्टिकल और थ्योरी दोनों के लिए लागू कर दिया है।

Next News

आरटीआई के तहत आंसर शीट की कॉपी देगा सीबीएसई

आवेदकों को हर पेज के लिए दो रुपए फीस देनी होगी।

CBSE: परीक्षा में कंप्यूटर का प्रयोग कर सकेंगे दिव्यांग विद्यार्थी

सीबीएसई ने सभी संबद्ध स्कूलों के लिए अधिसूचना जारी कर दी है।

Array ( )