CBSE: डीपीएस की शब्दिता 98.6% के साथ भोपाल की सिटी टॉपर

डीपीएस के आयुध सक्सेना सिटी टॉपर में सेकंड, कार्मल कॉन्वेंट की इशिता जैन रहीं तीसरे स्थान पर

एजुकेशन डेस्क, भोपाल। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) ने 12वीं के रिजल्ट शनिवार को घोषित किए। इस बार एग्जाम में भोपाल से करीब 10 हजार स्टूडेंट्स शामिल हुए। साइंस, बायोलॉजी और कॉमर्स को पीछे छोड़ते हुए एक बार फिर ह्यूमेनिटीज सब्जेक्ट के स्टूडेंट ने 12वीं बोर्ड परीक्षा में टॉप किया। दिल्ली पब्लिक स्कूल की शब्दिता तिवारी ने 98.6% हासिल कर शहर में टॉप किया, जबकि कॉमर्स के स्टूडेंट आयुध सक्सेना ने 98% अंकों के साथ शहर में दूसरा स्थान हासिल किया, वहीं कार्मल कॉन्वेंट की इशिता जैन 97.4% के साथ तीसरे स्थान पर रहीं। शहर के दो स्टूडेंट्स त्रिशा अग्रवाल और मेघा उन्नी नायर ने बराबर 97.2% अंकों के साथ फोर्थ रैंक शेयर की।

शब्दिता तिवारी 98.6% 
लक्ष्य-
इंटरनेशनल रिलेशंस एक्सपर्ट बनना 
- इतिहास में शुरुआत से ही इंट्रेस्ट था, इसलिए ह्यूमेनिटीज के साथ पढ़ाई की। 11वीं की शुरुआत से ही हर रोज क्लास में पढ़ाए गए चेप्टर्स के रिवीजन को लेकर पंक्चुअल रही, जिसके कारण बोर्ड एग्जाम के समय पढ़ाई का बहुत ज्यादा बर्डन महसूस नहीं हुआ।
- पढ़ाई जब बोरिंग लगने लगती तो मैं तरह-तरह के नॉवेल पढ़कर खुद को रिफ्रेश करती हूं। मेरे कलेक्शन में 400 नॉवेल्स हैं, जिन्हें मैं मूड के अनुसार पढ़ती हूं।
- सारे सब्जेक्ट मेरी पसंद के हैं, जिसके कारण मुझे कभी कोचिंग नहीं करनी पड़ी। मेरा मूड अच्छा रहे, इसके लिए मम्मी ने पूरे साल रोज नई-नई और मेरी पसंद की डिशेस तैयार कीं। 
स्ट्रेस बस्टर-खालिद हुसैनी, जेफरी आर्चर की नॉवेल पढ़ना 

आयुध सक्सेना 98% लक्ष्य-आईटी इंजीनियर बनना 
- वीकली टेस्ट और दो-दो बार हुए प्री-बोर्ड के कारण सिलेबस को लेकर पूरी तरह से एग्जाम के पहले तैयार था।
- पिछले साल के ढेरों टेस्ट पेपर्स सॉल्व किए, जिसने पेपर राइटिंग स्किल को इम्प्रूव करने में काफी मदद की। मम्मी-पापा दोनों इंजीनियर हैं, इसलिए मैंने भी हमेशा से आईटी को ही अपना फाइनल गोल बनाया।
- मैंने सोशल मीडिया से कभी खुद को डिस्कनेक्ट नहीं किया, जिसके कारण पढ़ाई से जब भी स्ट्रेस्ड होता, मैं थोड़ी देर गेम और यू-ट्यूब वीडियो के साथ समय बिताकर अपने आप को रिफ्रेश कर लेता था। 
स्ट्रेस बस्टर-सोशल मीडिया और वीडियो गेम्स 

मेघा उन्नी नायर 97.2% 
- मेरी सफलता में सबसे बड़ा फैक्टर स्कूल क्लास को पूरे साल बंक नहीं करना है।
- मैंने अपने क्लासरूम लेक्चर को हर रोज घर जाकर रिवाइज किया। इसके अलावा हर रोज 5 से 6 घंटे की पढ़ाई और पुराने टेस्ट पेपर के रिवीजन से अच्छा स्कोर कर पाई।
 अब जबकि 12वीं की परीक्षा का रिजल्ट आ गया है तो मेरा अगला टारगेट चार्टर्ड अकाउंटेंट बनना है। 
स्ट्रेस बस्टर- नाॅवेल्स पढ़ना 

त्रिशा अग्रवाल 97.2% 
- पढ़ने के साथ मैंने रिलेक्सेशन को भी उतना ही महत्व दिया, जितनी जरूरी होता है।
- सिलेबस के साथ नॉवल्स को कम्बाइइंड किया, ताकि पढ़ाई में बोरियत न हो। अब अगला टार्गेट दिल्ली यूनिवर्सिटी से बीकॉम ऑनर्स करने का है।
- मैं एक इकोनॉमिस्ट बनना चाहती हूं, ताकि देश की इकोनॉमी को स्ट्रॉन्ग करने में मदद कर सकूं। 
स्ट्रेस बस्टर- गाने सुनना और म्यूजिक 

सिटी के टॉप-10 में 8 गर्ल्स स्टूडेंट्स शामिल 
- यह लगातार तीसरा मौका है, जब राजधानी में सीबीएसई में ह्यूमेनिटीज सब्जेक्ट के किसी स्टूडेंट ने सिटी टॉप किया।
- शहर के टॉपर्स की लिस्ट में 10 में से 8 नाम गर्ल्स के हैं। यानी गर्ल्स की परफॉर्मेंस बॉयज की तुलना में बेहतर रही। ओवरऑल सब्जेक्ट में कॉमर्स स्टूडेंट्स का परफॉर्मेंस सबसे अच्छा रहा।
- वहीं अजमेर रीजन का ओवरआॅल रिजल्ट 86.40 प्रतिशत रहा।
- रीजन में गर्ल्स का परिणाम 90.30 प्रतिशत और लड़कोंं का परिणाम 83.70 प्रतिशत रहा। इस हिसाब से अजमेर रीजन में लड़कियों ने लड़कों की तुलना में 6.60 प्रतिशत अधिक बेहतर प्रदर्शन किया।
- बकि पिछले वर्ष की तुलना में ओवरऑल परिणाम में करीब 2.20 प्रतिशत की बढ़ोतरी नजर आई। 

 

यह हैं सिटी टॉपर्स 

नाम

पर्सेंटाइल  स्ट्रीम 

स्कूल 

शब्दिता तिवारी

98.6  ह्यूमेनिटिज 

डीपीएस 

आयुध सक्सेना 

98.0 पीसीएम

डीपीएस

इशिता जैन 

97.4 कॉमर्स 

कार्मल,भेल

त्रिशा अग्रवाल

97.2 कॉमर्स

एसपीएस  गांधी नगर 

मेघा उन्नी नायर 

97.2  कॉमर्स     

सेंट पॉल 

पूर्वी जोशी

96.8 कॉमर्स     

डीपीएस 

मुस्कान रावतानी

96.6 कॉमर्स     

कार्मल, भेल

जाह्नवी अग्रवाल 

96.4 पीसीएम     

कार्मल, भेल 

आदित्य गुप्ता 

96.4 साइंस     

सेंट पॉल

कलश सिंह 

96.4 पीसीबी     

विध्यांचल अकादमी 

सौरभ चौरसिया

96.4 पीसीबी

डीपीएस 

सुमन सिंह

96.2 कॉमर्स     

सेंट पॉल 

अपूर्वा टिलवानी    

96.2 कॉमर्स     

सेंट जोसेफ्स 

अवि वाधवा

96.2 पीसीएम     

 

ज्ञानगंगा 

साक्षी दानदेकर

96.2  कॉमर्स     

कार्मल, भेल

अंकिता जैन

96.0  मैथ्स     

कार्मल, भेल 


सीबीएसई 2018 का रिजल्ट चेक करने के लिए यहां क्लिक करें


 

Next News

CBSE: टूटा रिकॉर्ड, 14 साल में पहली बार 500 में से 499, 34 स्टूडेंट्स के 99%

जिस इकोनॉमिक्स की दोबारा परीक्षा हुई, उसका रिजल्ट 5 साल का बेस्ट, 1659 स्टूडेंट्स के 100% मार्क्स

CBSE: सैंपल पेपर से मिली सक्सेस, टॉपर्स डोनेट करेंगे नोट्स और बुक्स

90 से ज्यादा परसेंट हासिल करने वाले शहर के 50 से ज्यादा स्टूडेंट्स ने लिया डिसीजन- लाइब्रेरी को डोनेट करेंगे नोट्स, इस साल 12वीं पढ़ने वालों को टॉपर्स

Array ( )