CBSE: परीक्षा में कंप्यूटर का प्रयोग कर सकेंगे दिव्यांग विद्यार्थी

सीबीएसई ने सभी संबद्ध स्कूलों के लिए अधिसूचना जारी कर दी है।

एजुकेशन डेस्क। परीक्षा देने में असमर्थ 10वीं और 12वीं के दिव्यांग विद्यार्थियों को सीबीएसई की आेर से पहली बार परीक्षा हॉल में कंप्यूटर या लैपटॉप का प्रयोग करने की स्वीकृति दी गई है, ताकि वह बिना किसी परेशानी के अपना पर्चा लिख सके। इसके लिए सीबीएसई से पूर्व अनुमति लेनी होगी। इस संबंध में सीबीएसई ने सभी संबद्ध स्कूलों के लिए अधिसूचना जारी कर दी है। सीबीएसई की 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं 5 मार्च से शुरू होने जा रही हैं। जानकारी के अनुसार सभी परीक्षार्थियों को पंजीकृत डॉक्टर या किसी मनोवैज्ञानिक से एक सर्टिफिकेट जारी कराना होगा, साथ ही विद्यार्थी को अपना कंप्यूटर या लैपटॉप पहले से फाॅर्मेट कराकर लाना होगा। ऐसे परीक्षार्थियों को अटेंडेंस में भी 50 प्रतिशत तक की छूट मिलेगी।

कंप्यूटर में नहीं होगा इंटरनेट कनेक्शन, दस्तावेज भेजने होंगे 
- कंप्यूटर में कोई इंटरनेट कनेक्शन भी नहीं होना चाहिए। परीक्षार्थी को स्कूल के जरिये परीक्षा केंद्र अधीक्षक को पहले से अपने दस्तावेज भेजने होंगे, ताकि परीक्षा कराने की उचित व्यवस्था की जा सके। परीक्षा केंद्र अधीक्षक की ओर से उपलब्ध कराए गए परीक्षार्थी के प्रिंटआउट पर  पर्यवेक्षक के हस्ताक्षर होंगे।

डॉक्टर से लेना होगा कंप्यूटर उपयोग करने का सर्टिफिकेट 
- माध्यमिक शिक्षा से जिला दिव्यांगना प्रकोष्ठ अधिकारियों के मुताबिक इस परीक्षा में बीमार या किसी भी रूप में परीक्षा देने में असमर्थ परीक्षार्थियों को पंजीकृत डॉक्टर या किसी मनोवैज्ञानिक से एक सर्टिफिकेट जारी कराना होगा। इसमें कुछ ठोस आधार पर कंप्यूटर का इस्तेमाल करने की सिफारिश की गई होगी। सीबीएसई परीक्षा समिति ने एक बैठक में यह फैसला लिया है। इस साल से विशेष जरूरतों वाले परीक्षार्थियों को यह अतिरिक्त रियायत दी जाएगी।

दिव्यांग को कंप्यूटर पर सवाल समझने और सुनने की होगी इजाजत
- जानकारी के अनुसार कंप्यूटर का इस्तेमाल सीमित रूप से केवल सवालों का जवाब देने के लिए किया जा सकता है। बड़े फोंट साइज में सवाल को देखने या फिर सवाल को कंप्यूटर पर सुनने की भी इजाजत होगी। संबंधित परीक्षार्थी को परीक्षा में अपना कंप्यूटर या लैपटॉप खुद ही लाना
होगा। यह कंप्यूटर परीक्षा के लिए पहले से फार्मेट किया गया होगा। टीचर के कंप्यूटर को चैक करने के बाद ही सेंटर के प्रभारी परीक्षार्थी को उपयोग की इजाजत देंगे।

Next News

CBSE: परीक्षा में विकल्प प्रश्नों की संख्या बढ़ाएगा बोर्ड, 55 विषयों में मिलेगी सुविधा

अब पैरेंट्स से मनमानी फीस नहीं वसूल पाएंगे सीबीएसई स्कूल

CBSE ने टीचर्स से मांगी पढ़ाने के बेस्ट तरीकों की केस स्टडीज

ढूंढेंगे स्टूडेंट्स को पढ़ाने के इनोवेटिव आइडियाज

Array ( )