CBSE 12th: 6 लाख स्टूडेंट्स ने दोबारा दी एग्जाम, मई लास्ट में रिजल्ट

26 मार्च को 12th का इकोनॉमिक्स का पेपर लीक हो गया था। जिसके बाद इसे री-कंडक्ट कराने का फैसला लिया गया। एग्जाम देश के 4000 सेंटर्स पर हुआ।

नई दिल्ली। देश भर में सीबीएसई ने 12th के स्टूडेंट्स का इकनॉमिक्स का पेपर दोबारा हुआ। पूरे देश के करीब छह लाख स्टूडेंट्स से एग्जाम दिया। 25 अप्रैल को हुआ इकोनॉमिक्स का पेपर 26 मार्च को हुए पेपर के मुकाबले टफ था। स्टूडेंट्स का कहना है कि पहले वाले पेपर के मुकाबले यह पेपर कठिन था।  गौरतलब है कि सीबीएसई के 10th मैथ्स और 12th इकोनॉमिक्स का पेपर वॉट्सएप पर लीक हो गया था। 

मार्निंग शिफ्ट में हुआ पेपर

एग्जाम सुबह 10:30 से 1:30 बजे तक चला। दोबारा एग्जाम देने आए स्टूडेंट्स ने बताया कि यह पेपर पहले पेपर की तुलना में काफी कठिन था। पिछली बार इकोनॉमिक्स का पेपर बेहद ही सरल था। एग्जाम हॉल से बाहर आते ही बताया कि इस बार के पेपर में न्यूमेरिकल सवाल ज्यादा पूछे गए थे। जबकि पार्ट बी में मेडिकल और मैक्रोइकोनॉमिक्स के क्वेश्चन ज्यादा थे। कुछ स्टूडेंट्स ने पेपर लैंदी बताया। ज्यादातर ने पेपर को एवरेज बताया। 

एग्जाम रियल चेक 

12th के एग्जाम के लिए 11,86,306 स्टूडेंट्स ने रजिस्ट्रेशन कराया था। जिसमें 8 ट्रांसजेंडर छात्र भी शामिल हुए थे। वहीं इकोनॉमिक्स का पेपर देने वाले देशभर में 6 लाख स्टूडेंट्स थे। पेपर अप्रैल के आखिर में होने के कारण सीबीएसई का रिजल्ट भी देर से आने की संभावना है। रिजल्ट मई के लास्ट वीक तक डिक्लेयर हो सकता है। 

ऐसे हुआ था स्प्रैड 

पेपर 35 हजार से लेकर 1 एक हजार रुपये तक में बिका थे। जो भी लीक पेपर खरीदता, वह उसका आगे सौदा कर देता। जैसे, एक स्टूडेंट ने 35 हजार में अपने लिए पेपर खरीदा, लेकिन फिर उसी ने आगे पांच स्टूडेंट को 10-10 हजार रुपये में पेपर फॉरवर्ड कर दिया। जिसने 10 हजार में पेपर खरीदा, उसने आगे 5-5 हजार में फॉरवर्ड किया। पांच हजार में पेपर खरीदने वाले ने हजार-हजार रुपये में आगे बढ़ा दिया। इस तरह लीक पेपर बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स, टीचर्स व अन्य लोगों के मोबाइल तक पहुंच गया। 

Next News

CBSE के पुराने एडमिट कार्ड पर ही दें सकेंगे 12th इकोनॉमिक्स का पेपर

पहले खबर आई थी कि री-एग्जाम के लिए नए एडमिट कार्ड जारी होंगे। लेकिन बाद में पहले से अलॉट किए गए एडमिट कार्ड पर ही री-एग्जाम लिया जाएगा।

CISEC : अब काउंसिल बनाएगा 9th-11th के पेपर, देशभर में लागू होगा नियम

स्कूल स्टूडेंट्स को बोर्ड एग्जाम लेवल पर प्रिपेयर करने के लिए नए-नए एक्सपेरिमेंट्स किए जाते हैं। 9th और 11th के एनुअल पेपर बनाना उनमें से एक है।

Array ( )