CBSE 10th के रिजल्ट के बाद ऐसे समझें CGPA ग्रेड का पूरा गणित

पिछले कुछ सालों से बोर्ड स्टूडेंट्स का मूल्यांकन ग्रेडिंग सिस्टम से कर रहा है। जिसमें स्टूडेंट्स को A1 से E ग्रेड तक दी जाती है।

एजुकेशन डेस्क। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) मंगलवार को 4 बजे 10th क्लास का रिजल्ट घोषित करेगा। स्टूडेंट्स अपना रिजल्ट बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते हैं। पिछले कुछ सालों से बोर्ड स्टूडेंट्स का मूल्यांकन ग्रेडिंग सिस्टम से कर रहा है। इस सिस्टम के द्वारा बोर्ड स्टूडेंट्स को ग्रेड A1 से E तक प्रदान करती है, जिससे ग्रेड प्वॉइंट एवरेज (जीपीए) और कम्यूलेटिव ग्रेड प्वॉइंट एवरेज (सीजीपीए) कैलकुलेट किया जाता है। सीजीपीए के जरिए ही स्टूडेंट्स अपनी ग्रेड जान सकता है साथ ही अपना ओलरऑल पर्सेंटेज भी निकाल सकता है।

यह है सीबीएसई क्लास 10th का ग्रेड सिस्टम

A1 - टॉप 1/8th पास कैंडिडेट के - 10 GPA
A2 - अगले 1/8th पास कैंडिडेट के - 9 GPA
B1 - अगले 1/8th पास कैंडिडेट के - 8 GPA
B2 - अगले 1/8th पास कैंडिडेट के - 7 GPA
C1 - अगले 1/8th पास कैंडिडेट के - 6 GPA
C2 - अगले 1/8th पास कैंडिडेट के - 5 GPA
D1 - अगले 1/8th पास कैंडिडेट के - 4 GPA
D2 - अगले 1/8th पास कैंडिडेट के - 3 GPA
E/F- फेल कैंडिडेट


ऐसे निकाले CGPA

- चार से पांच सबजेक्ट का  CGPA निकालने के लिए सभी सब्जेक्ट की ग्रेड को आपस में जोड़े। इसके बाद आए आंसर को सभी जोड़े गए कुल सब्जेक्ट से भाग दे दें।
- उदाहरण के लिए अगर आपने 9,8,9,8 और 10 ग्रेड पॉइंट ऐवरेज (GPA)मिलें हैं तो सभी ग्रेड को आपस में जोड़ दें, जैसे- 9+8+9+8+10= 44
- अब 44 को सब्जेक्ट की कुल संख्या से भाग देदे यानी 44/5 = 8.8
- यानी आपकी CGPA 8.8 है।

CGPA से पर्सेंटेज कैलकुलेट करने के लिए

- CGPA से ओवरऑल पर्सेंटेज निकालने के लिए CGPA को 9.5 से गुणा कर दें। यानी 8.8*9.5 = 83.6%
- यानी आपका ओवरऑल पर्सेंटेज 83.6 है।

9.5 से ही क्यों गुणा किया जाता है

- बोर्ड नें 91 से 100 मार्क्स स्कोर करने वाले स्टूडेंट्स के पिछले 5 साल का रिजल्ट लेकर उसका ऐवरेज निकाला।
- यह ऐलरेज लगभग 95 निकला।
- चूकिं 91 -100 मार्क्स के लिए ग्रेड प्वाइंट 10 है इसलिए 95 का 10 से भाग दिया। तब 9.5 आया। 

 

ऐसा है सीबीएसई को ग्रेडिंग सिस्टम

मार्क्स  रेंज  

ग्रेड     

ग्रेड प्वॉइंट

91-100 

A1 10.0

81-90

A2 9.0

71-80

B1 8.0

61-70

B2 7.0

51-60

C1 6.0

41-50  

C2 5.0

33-40  

D 4.0

21-32 

E1 C

00-20

E2

C

पासिंग मार्क्स

- स्टूडेंट्स को पास होने के लिए टोटल 33% होना जरूरी है।
- फेल स्टूडेंट्स की ग्रंडिंग E और F से की जाएगी।
- जो स्टूडेंट्स दो से ज्यादा सब्जेक्ट्स में फेल नहीं है उन्हें कम्पार्टमेंट एग्जाम्स में फिर से एग्जाम देने की सुविधा दी जाती है जो जुलाई में आयोजित होती है।
- जो स्टूडेंट्स अपने मार्क्स से संतुष्ट नहीं है वो भी इस एग्जाम में अपीयर हो सकते हैं।

Next News

CBSE कराएगा इंडिया वाइल्ड विज्डम क्विज, 15 अगस्त तक करें रजिस्ट्रेशन

क्विज तीन चरणों में ऑनलाइन होगा, इंटरेंस्टेड कैंडिडेट ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं

आंकड़ों में समझें कैसे अलग रहा इस साल का सीबीएसई 10th का रिजल्ट

पिछले साल के तुलना में इस साल का रिजल्ट का पासिंग परसेंटेज 86.70% रहा जो पिछले साल के तुलना में 4.25% कम है।

Array ( )