12th पास की है तो करियर सिलेक्शन में काम आएंगें यह टिप्स

किसी फील्ड में स्पेशलाइजेशन करने के बाद टारगेट बनाएं कि 24 साल के भीतर आपके हाथ में एक अच्छा करियर हो।

एजुकेशन डेस्क। 12वीं के बाद स्टूडेंट्स के सामने नया चैलेंज करियर से जुड़े डिसिजन का होता है। यह ऐसा वक्त है जब आपके द्वारा लिया गया कोई निर्णय आपकी पूरी जिंदगी पर असर डाल सकता है। वे 5 बातें जो आपको इस स्टेज पर जरूर ध्यान रखनी चाहिए।

- अगर आपने कोई फील्ड चुन लिया है तो अच्छी बात है। नहीं चुना है तो सबसे पहले तो फील्ड चुनकर उसे लॉक करें। इसके बाद उस फील्ड से ही जुड़े किसी सब्जेक्ट में स्पेशलाइजेशन करें। आज जमाना स्पेशलाइजेशन का है। अगर आपका किसी सब्जेक्ट में स्पेशलाइजेशन होगा तो करियर को बिल्डअप करने में मदद मिलेगी। 

- किसी फील्ड में स्पेशलाइजेशन करने के बाद टारगेट बनाएं कि 24 साल के भीतर आपके हाथ में एक अच्छा करियर हो। यह कोई जॉब भी हो सकता है तो खुद का काम भी।

- आपको भविष्य में क्या करना है, इसका निर्णय आपको ही अपनी कैपेसिटी और योग्यता के अनुसार करना है। यह सोचकर डिसिजन मत लीजिए कि आपके दोस्त क्या कर रहे हैं। डिसिजन लेते समय यह भी ध्यान रखना है कि आप जो करने जा रहे हैं, उसका 5 या 7 साल बाद स्कोप क्या रहेगा। 

- 12वीं तक तो नाम और कॉलोनी का हर हमउम्रगक्ति आपका दोस्त हो सकता है। लेकिन कॉलेज में जाने के बाद अब दोस्ती में सिलेक्टिव होना होगा। अच्छे दोस्तों की पहचान करना सीखिए।

-  वे लोग जो आपकी पढ़ाई या करियर में बाधा बन रहे हों, उन्हें दोस्ती की सूची से निकाल दीजिए। हालांकि इसका मतलब यह भी नहीं है। कि उन्हें आप अपनी जिंदगी से बाहर कर दें। उनसे संबंध बनाए रखें। संबंध हमेशा काम आते हैं।

- अब आपको प्रोफेशनल बनना सीखना होगा। अगर जॉब में जाने से पहले ही आप प्रोफेशनल बन जाते हैं तो भविष्य में किसी भी ऑफिस में काम करने में कभी कोई प्रॉब्लम नहीं होगी। न ही अपना बिजनेस करते समय आपको कोई दिक्कत होगी।


कैसे करे करियर का चुनाव 

- जब 10 वीं कक्षा की पढ़ाई पूरी होने के बाद किसी विषय के चुनाव का समय आता है तब मन कुछ और करना चाहता है और दिमाग कुछ और। उस पर हर किसी का अपना अलग सुझाव हुआ करता है कि तुम्हें यह करना चाहिए, तुम यह क्यों नहीं कर लेते या फिर अरे यार आज कल तो इसी विषय का क्रेज चल रहा है। 

- ऐसे में अपने मन व मस्तिष्क पर नियंत्रण कर पाना बेहद ही मुश्किल हुआ करता है। किंतु यह समय भटकने का नहीं सही राह चुनने का समय हुआ करता है और इस चुनाव का फैसला पूरी सोच व समझ के साथ करना चाहिए। क्योंकि आपके इस छोटे से फैसले पर ही आपका सारा फ्यूचर डिपेंड करता है। 

- आज के समय में शिक्षा के क्षेत्र में रोजना एक नए कोर्स ओपन होने लगे है। ढेर सारे कोर्स के ओपन हो जाने के चलते इनमें से किसी एक का चुनाव करना विद्यार्थियों के लिए बेहद ही कठीन हुआ करता है। 

- इसके अलावा शिक्षा के क्षेत्र में बढ़ती महंगाई एक चिंताजनक विषय बना हुआ है। महंगी शिक्षा आज पूरी तरह आम आदमी के पहुंच से दूर हो चली है। इन हाईफाई कोसों को केवल सम्पन्न घर के बच्चे ही कर पाते हैं। बाकी विद्यार्थी या तो पढ़ाई छोड़ देते हैं या फिर किसी प्लेन विषयों में ग्रेजुवेशन कर लिया करता है। 

- ऐसा नहीं है कि पुराने कोर्स या विषयों पर अधारित शिक्षा को दरकिनार समझा जाए क्योंकि यह विषय भी महत्वपूर्ण हुआ करते है। महत्वपूर्ण विषय आपकी रूचि हुआ करती है।

- आप को उसी विषय का चुनाव करना चाहिए जिस विषय में आपकी दिलचस्पी है। किसी के जोर पर आकर या किसी और को देख कर अपने करियर का चुनाव कतई नहीं करना चाहिए।

Next News

12th के बाद ड्रीम काॅलेज का रखें पूरा नॉलेज, री-वेल ऑप्शन भी करें ट्राय

रिजल्ट की टेंशन में जरूरी काम न भूलें। अगर उम्मीद से कम नंबर आते हैं तो री-वेल के लिए अप्लाय करें। एडमिशन के टाइम कॉलेज की पूरी इन्फॉर्मेशन रखें।

CBSE / 15 से 20 मई के बीच 12वीं के रिजल्ट, रीवैल्यूएशन शेड्यूल जारी

रिजल्ट के 5 दिन तक वेरिफिकेशन के लिए आवेदन

Array ( )