एनिमेशन की दुनिया में करियर बनाकर अपने सपनों को करें सच

फिक्की केपीएमजी 2017 की एक रिपोर्ट के अनुसार साल 2016 में एनिमेशन और वीएफएक्स इंडस्ट्री 59.5 बिलियन रुपए की रही और 2021 तक यह 131.7 बिलियन तक पहुंच जाएगी।

करियर डेस्क । एनिमेशन इंडस्ट्री बहुत तेजी से ग्रोथ कर रही है। फिक्की केपीएमजी 2017 की एक रिपोर्ट के अनुसार साल 2016 में एनिमेशन और वीएफएक्स इंडस्ट्री 59.5 बिलियन रुपए की रही और 2021 तक यह 131.7 बिलियन तक पहुंच जाएगी। इंडस्ट्री की इस मजबूती को देखते हुए अब एनिमेशन में करिअर युवाओं के बीच सबसे पसंदीदाऑप्शन बनकर उभरा है।  

किसे मिलेगी एंट्री
एनिमेशन के फील्ड में किसी भी विषय के साथ 12वीं करके प्रवेश किया जा सकता है। डिग्री के साथ-साथ एनिमेशन में कई डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स भी उपलब्ध हैं। बहुत से स्टूडेंट्स का मानना है कि इस क्षेत्र में जाने के लिए आपकी ड्रॉइंग बहुत अच्छी होनी चाहिए लेकिन ऐसा बिलकुल नहीं है। आप इसे बाद में भी सीख सकते हैं और अगर आपकी ड्रॉइंग में रुचि है तो आप इसे बेहतर बना सकते हैं। 

सही इंस्टीट्यूट चुनें और स्पेशलाइजेशन पर फोकस करें 
आप जिस इंस्टीट्यूट में दाखिला लेना चाहते हों वहां के पूर्व स्टूडेंट्स से संपर्क करके उस इंस्टीट्यूट, वहां की फैकल्टी, सुविधाओं और स्टूडेंट्स को मिलने वाले प्लेसमेंट के बारे में जानने की कोशिश करें। ध्यान दें कि इंस्टीट्यूट में एनिमेशन के नाम पर आपको अलग-अलग सॉफ्टेवयर ना सिखाए जा रहे हों। मसलन एनिमेशन, वीएफएक्स और ग्राफिक डिजाइनिंग में से किसी एक स्पेशलाइजेशन के सब्जेक्ट पर फोकस हो न कि सभी पर। 

अनुभवी फैकल्टी से सीखना जरूरी
अपनी पसंद के कॉलेज में एडमिशन लेने से पहले इंस्टीट्यूट की फैकल्टी के बारे में यह जानने की कोशिश करें कि उन्हें एनिमेशन कंपनी में काम का कितना अनुभव है। ऐसा इसलिए क्योंकि फैकल्टी के लिए एकेडमिक नॉलेज के साथ-साथ प्रॉडक्शन की प्रैक्टिकल नॉलेज होनी भी जरूरी है। इंडस्ट्री में काम का अनुभव रखने वाले प्रशिक्षकों को स्टूडियो में काम के तरीकों और नवीनतम तकनीकों की जानकारी होती है। ऐसे प्रशिक्षकों की ट्रेनिंग आपको काम की शुरुआती चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार करती है।

पढ़ाई के साथ जॉब की तैयारी
पढ़ाई के साथ ही अलग-अलग असाइनमेंट्स पर काम करें और अपनी फैकल्टी को दिखाएं ताकि उनके गाइडेंस में आप एक अच्छा डेमो तैयार कर सकें। कई बार प्लेसमेंट के दौरान टेस्ट क्लियर न करने पर आपका डेमो रील आपको रिजेक्शन से बचा सकता है और इसके आधार पर कंपनी आपको चुन सकती है। कंपनी कनेक्शन के लिए अपने साथियों, प्रोफेसर्स और पूर्व स्टूडेंट्स से मदद लें। कोर्स के साथ लाइव प्रोजेक्ट ट्रेनिंग आपको जॉब रेडी बनाने में मदद करती है। 

फ्रीलांस प्रोजेक्ट्स
एनिमेशन के फील्ड में अब देश ही नहीं फॉरेन से भी कई प्रोजेक्ट्स मिल रहे हैं जिनसे फ्रीलांसर के तौर पर जुड़ा जा सकता है। आप चाहें तो अपने मौजूदा काम के साथ इन प्रोजेक्ट्स पर काम करके कुछ अतिरिक्त आय हासिल कर सकते हैं या नए अनुभव लेने के लिए भी इनका हिस्सा बन सकते हैं। एक अनुभवी एनिमेटर फ्रीलांस काम करके भी लाखों रुपए हर महीने कमा सकता है।

आउटसोर्सिंग से मिल रहे हैं अवसर
पश्चिमी देशों की एिनमेशन इंडस्ट्रीज के लिए भारत एनिमेशन से जुड़े प्रोजेक्ट्स की आउटसोर्सिंग के लिए सबसे पसंदीदा जगह बन चुका है। इनमें कुछ प्रमुख देश हैं यूएस, कनाडा, ब्रिटेन, फ्रांस और एशिया आिद। दुनिया के प्रमुख एनिमेशन स्टूडियोज ने भी देश में अपने स्टूडियो स्थापित किए हैं जिनमें प्रमुख हैं ड्रीमवर्क्स, रॉकस्टार, ईए स्पोर्ट्स गेमिंग आदि। साथ ही कुछ भारतीय एनिमेशन कंपनियां जैसे डीक्यू एंटरटेनमेंट, माया डिजिटल स्टूडियो, एक्सनट्रिक्स एंड टेक्निकलर बेंगलुरु, प्राणा स्टूडियोज, प्राइम फोकस, ग्रीन गोल्ड देश-विदेश के प्रोजेक्ट्स पर काम कर रही हैं। ऐसे में साफ है कि आउटसोर्सिंग एनिमेटर्स की डिमांड को बढ़ा रही है।

आंत्रप्रेन्योरशिप के भी कई मौके देती है एनिमेशन फील्ड
अगर आंत्रप्रेन्योरशिप में आपकी रुचि है तो इस क्षेत्र में आपके लिए कई मौके हैं। एनिमेशन की जरूरी शिक्षा लेने और इंडस्ट्री में कुछ सालों तक काम का अनुभव हासिल करने के बाद आप आंत्रप्रेन्योरशिप की ओर कदम बढ़ा सकते हैं। इसकी शुरुआत आप अपनी एनिमेशन कंपनी की स्थापना करके कर सकते हैं या खुद का
एनिमेशन स्टूडियो भी शुरू कर सकते हैं। शुरुआती दौर में आप कुछ फ्रीलांस प्रोजेक्ट्स हाथ में लें और फिर एनिमेशन सीरीज या मूवीज तैयार करें। यही नहीं आप अपने स्टूडियो में स्टूडेंट्स को एनिमेशन की ट्रेनिंग भी दे सकते हैं।

Next News

अगर आपको भी है म्यूजिक से लगाव तो साउंड, बीट्स साथ गुनगुनाइए कामयाबी की धुन

अगर सिंगिंग या इंस्ट्रूमेंट्स बजाना आपका शौक है तो म्यूजिक इंडस्ट्री आपके लिए कामयाब भविष्य के रास्ते खोल सकती है। गाना, अमेजन प्राइम म्यूजिक, एप्पल म्यूजिक,

आपके लिए बेहतरीन करियर के ऑप्शन लेकर आएगी चाइनीज लैंग्वेज

पिछले कुछ सालों में मेक इन इंडिया कैंपेन पर जोर दिए जाने के बाद से चीनी निवेशकों ने भारतीय बाजार में प्रवेश किया है। यही नहीं यहां चीनी भाषा के जानकारों

Array ( )