NEET: 25 साल से अधिक उम्र वालों का रिजल्ट रोका, सीबीएसई को नोटिस

नीट के लिए जनरल कैटेगिरी के लिए 25 और आरक्षित वर्गों के लिए 30 वर्ष की आयु सीमा तय की गई है।

एजुकेशन डेस्क, नई दिल्ली/कोटा। सीबीएसई ने तय तारीख से एक दिन पहले सोमवार को ही नीट का रिजल्ट घोषित कर दिया। नीट के रिजल्ट विवादों के घेरे में आ गया है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर नीट की परीक्षा में बैठे 25 साल से अधिक उम्र के छात्रों का रिजल्ट जारी नहीं किया गया। नीट के लिए आयु सीमा तय करने संबंधी सीबीएसई के फैसले पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई भी हुई। कोर्ट ने सीबीएसई, केंद्र सरकार और मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। इन्हें 2 जुलाई तक जवाब देना होगा। बता दें कि इस साल बिहार की कल्पना कुमारी में नीट के एग्जाम में पहली रैंक हासिल की है। देशभर के मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस की 65000 और बीडीएस की 26000 सीटों पर दाखिले के लिए 6 मई को 136 शहरों में हुई परीक्षा में 12,69,922 अभ्यर्थी बैठे थे। इनमें से 7,14,562 ने क्वालिफाई किया। हालांकि लगातार दूसरे साल कटऑफ गिरा है। इस बार 16.52% अंकों पर भी काउंसलिंग कॉल आएगा। तेलंगाना के रोहन पुरोहित दूसरी और दिल्ली के हिमांशु शर्मा तीसरी रैंक पर रहे। वहीं, दिल्ली के आरूष धमीजा को चौथी और राजस्थान के प्रिंस चौधरी को पांचवीं रैंक मिली। 

जनरल का कट ऑफ इस बार भी गिरा 
- जनरल कैटेगिरी का कट ऑफ इस साल भी गिरा है। इस बार 720 में से 119 यानी 16.52% अंक पाने वाले को भी काउंसिलिंग कॉल आएगा। 2017 में यह रेंज 131 अंक, जबकि 2016 में 145 थी।

 

दो साल से गिर रही है कटऑफ रेंज: 

कैटेगिरी

2018 2017 2016

जनरल

691-119 697-131

685-145 

ओबीसी

118-96 130-107

678-118 

एससी

118-96 130-107

595-118 

एसटी

118-96 130-107

599-118 

दिव्यांग

118-107 130-118

474-131 

ओबीसी दिव्यांग

106-96 130-107

510-118 

एससी दिव्यांग

106-96 130-107

415-118 

एसटी दिव्यांग

106-96 130-107

339-118 

 

जनरल के दिव्यांग का कट ऑफ आरक्षित वर्ग से ज्यादा रहा
- जनरल के दिव्यांग छात्रों का कट ऑफ 107 रहा। वहीं, ओबीसी और एससी-एसटी के लिए कट ऑफ 96 रहा। आरक्षित श्रेणियों के दिव्यांगों के लिए भी 96 ही कट ऑफ रहा। 

 

टॉप-20 में सिर्फ तीन लड़कियां: 
- टॉपर्स में लड़कों का दबदबा रहा।
- टॉप-20 में सिर्फ तीन लड़कियां हैं। 
- टॉपर कल्पना के बाद पंजाब की रमनीक कौर 10वें और तमिलनाडु की कीरथाना 12वें रैंक पर रही। 
- टॉप-50 में भी 14 ही लड़कियां हैं। क्वालिफाई करने वालों में 3,12,399 लड़के और 4,02,162 लड़कियां हैं। 
- इस बार एक ट्रांसजेंडर परीक्षा में बैठा था। वह सफल रहा। 

 

उत्तरप्रदेश से सबसे ज्यादा ने किया क्वालिफाई
- नीट में क्वालिफाई करने वाले सबसे ज्यादा छात्र उत्तरप्रदेश के हैं। उत्तरप्रदेश से 77,778 छात्रों ने क्वालिफाई किया। वहीं, केरल से 72,682 और महाराष्ट्र से 70,184 छात्रों ने क्वालिफाई किया। 

 

25 साल से अधिक उम्र वालों का रिजल्ट रोका; सीबीएसई को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस: 
- सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर नीट की परीक्षा में बैठे 25 साल से अधिक उम्र के छात्रों का रिजल्ट जारी नहीं किया गया। नीट के लिए आयु सीमा तय करने संबंधी सीबीएसई के फैसले पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई भी हुई।
- कोर्ट ने सीबीएसई, केंद्र सरकार और मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। इन्हें 2 जुलाई तक जवाब देना होगा।
- नीट के लिए जनरल कैटेगिरी के लिए 25 और आरक्षित वर्गों के लिए 30 वर्ष की आयु सीमा तय की गई है। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने अनुवाद में गड़बड़ियों के मुद्दे के आधार पर रिजल्ट पर रोक लगाने से भी इनकार कर दिया था। 

 

पिछले टॉपर से छह अंक कम रहे 
- कल्पना ने बायोलॉजी में 360 में से 360 अंक हासिल किए। केमेस्ट्री में 180 में से 160 व फिजिक्स में 180 में से 171 अंक मिले। पर्सेंटाइल स्कोर 99.999921 बना। पिछले साल टॉपर के अंक 697 थे। इस साल टॉपर के छह अंक कम आए हैं। 

 

16.52% अंक पर भी कांउसिलिंग कॉल आएगा।
- जनरल का कट ऑफ इस बार भी गिरा।
-  जनरल कैटेगिरी का कट ऑफ इस साल भी गिरा है। इस बार 720 में से 119 यानी 16.52% अंक पाने वाले को भी काउंसिलिंग कॉल आएगा। 2017 में यह रेंज 131 अंक, जबकि 2016 में 145 थी। 

 

उत्तरप्रदेश से सबसे ज्यादा ने किया क्वालिफाई
- नीट में क्वालिफाई करने वाले सबसे ज्यादा छात्र उत्तरप्रदेश के हैं। उत्तरप्रदेश से 77,778 छात्रों ने क्वालिफाई किया। वहीं, केरल से 72,682 और महाराष्ट्र से 70,184 छात्रों ने क्वालिफाई किया। 

 

25 साल से अधिक उम्र वालों का रिजल्ट रोका; सीबीएसई को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस: 
- सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर नीट की परीक्षा में बैठे 25 साल से अधिक उम्र के छात्रों का रिजल्ट जारी नहीं किया गया। नीट के लिए आयु सीमा तय करने संबंधी सीबीएसई के फैसले पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई भी हुई।
-  कोर्ट ने सीबीएसई, केंद्र सरकार और मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। इन्हें 2 जुलाई तक जवाब देना होगा।
- नीट के लिए जनरल कैटेगिरी के लिए 25 और आरक्षित वर्गों के लिए 30 वर्ष की आयु सीमा तय की गई है। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने अनुवाद में गड़बड़ियों के मुद्दे के आधार पर रिजल्ट पर रोक लगाने से भी इनकार कर दिया था। 


राजधानी की शबिस्ता को नीट में AIR-29 
- 6 मई को देशभर में हुए इस एग्जाम में शहर की शबिस्ता खान ने ऑल इंडिया 29वीं रैंक हासिल की। शबिस्ता को 720 में से 671 अंक मिले हैं।
- संकल्प केशरी को 43वीं रैंक मिली। संकल्प को 720 में से 668 अंक मिले हैं। 
- देशभर के मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस की सीटों के लिए भोपाल से 10 हजार स्टूडेंट्स ने परीक्षा दी थी।
- एक्सपर्ट अनिल अग्रवाल के मुताबिक इस बार नीट का रिजल्ट पिछले साल की तुलना में खराब है। इस बार 100 कैंडिडेट्स ही क्वालीफाई कर पाए हैं। सटीक सिलेक्शन ऑफ कैंडिडेट की जानकारी स्टेट रैंक रिलीज होने के बाद ही पता चल पाएगी। उल्लेखनीय है कि सीबीएसई हर वर्ष देशभर के लिए मेडिकल कॉलेजों की 66 हजार सीटों के लिए यह एग्जाम कराता है। 
 

शबिस्ता खान, AIR 29 
स्ट्रेस बस्टर : यूट्यूब पर फनी वीडियो देखा और फैकल्टी से बात की 
टारगेट : मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज में एडमिशन 
- एग्जाम हॉल में खुद पर कॉन्फिडेंस रखकर पेपर दिया 
- एग्जाम के आखिरी समय में मॉक टेस्ट की काफी हेल्प ली। हर दिन फुल लेंथ स्टडी की। खुद को पूरी तरह से मोटिवेट किया। पीसीबी तीनों सब्जेक्ट्स को बराबर टाइम दिया, क्योंकि सिलेक्शन के लिए तीनों सब्जेक्ट्स पर स्कोर करना होता है।
- एग्जाम हॉल में खुद पर कॉन्फिडेंस रखकर पेपर दिया, इसलिए नतीजा भी बेहतर आया। 

 

संकल्प केशरी, AIR 43 
स्ट्रेस बस्टर : रेडियो पर गाने सुनना, कहानियां पढ़ना 
टारगेट : मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज में एडमिशन 
- पढ़ाई को कभी टारगेट के तौर पर नहीं रखा 
- मैंने शुरुआत से ही क्वेश्चन ओरिएंटेड तैयारी शुरू की थी। कोशिश की, जितने ज्यादा क्वेश्चन पेपर सॉल्व कर सकूं, किए। पढ़ाई के दौरान जब टेस्ट में नंबर कम आते तो फ्रस्टेशन भी होता, लेकिन हार नहीं मानी।
- मैंने कभी पढाई को टारगेट के तौर पर नहीं रखा। एग्जाम के दौरान कभी यह नहीं सोचा कि मेरा पेपर कैसे जा रहा है। फुल कॉन्फिडेंट होकर ही एग्जाम दिया। 

नीट 2018 का रिजल्ट देखने के लिए यहां क्लिक करें

 

Next News

AIIMS: सेकेंड शिफ्ट का एग्जाम शुरू, 807 सीटों पर मिलेगा एडमिशन

AIIMS का एग्जाम दो शिफ्ट में रखा गया है। पहली शिफ्ट सुबह 9 से 12:30 बजे तक होगी, जबकि दूसरी शिफ्ट दोपहर 3 बजे से शाम 6:30 बजे तक रहेगी।

नीट की काउंसिलिंग 12 से, ऑल इंडिया कोटे की सीटों के लिए होंगे दो राउंड 

मेडिकल-डेंटल कॉलेजों में एडमिशन के लिए प्रवेश परीक्षा नीट 2018 (NEET 2018) के नतीजे 4 जून को घोषित हुए थे।

Array ( )