फिलॉसफी में बीए के बाद मास्टर्स व रिसर्च करके बनाए अपना करियर

फिलॉसफी में बीए के बाद कॅरिअर मे का क्या स्कोप है? मीनाक्षी बंसल

एजुकेशन डेस्क। कॅरिअर काउंसलर जितिन चावला ने बताया कि फिलॉसफी की पढ़ाई करके आप किसी इंसान के बिहेवियर या एथिक्स के बारे में जानने की कोशिश करते हैं। इस सब्जेक्ट की पढ़ाई के दौरान आपको मेटाफिजिक्स, पॉलिटिक्स, लॉ व विज्ञान के मूल सिद्धांतों को समझना होता है। यही नहीं यहां आप रीजनिंग, क्रिटिकल एनालिसिस, लॉजिकल थिंकिंग के जरिए किसी समस्या का हल करना सीखते हैं। फिलॉसफी में बीए के बाद आप मास्टर्स व रिसर्च करके सरकारी व गैरसरकारी संस्थाओं से जुड़कर कॅरिअर की नींव रख सकते हैं। 

हायर स्टडी के विकल्प 
- बैचलर के बाद हायर स्टडी के लिए मास्टर ऑफ आर्ट्स इन फिलॉसफी, डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी जैसे कोर्स के अलावा शॉर्ट टर्म कोर्स पीजी डिप्लोमा इन फिलॉसफी, पीजी डिप्लोमा इन गांधियन फिलॉसफी जैसे कोर्सेज पढ़े जा सकते हैं। 

देश के टॉप इंस्टीट्यूट्स 
- फिलॉसफी में हायर स्टडी के लिए आप अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, दिल्ली यूनिवर्सिटी, जवाहर लाल यूनिवर्सिटी, क्राइस्ट यूनिवर्सिटी, कोलकाता यूनिवर्सिटी जैसे संस्थानों से पढ़ाई कर सकते हैं। 
 

जॉब के लिए कई हैं मौके 
- इस सब्जेक्ट की पढ़ाई के बाद आप टीचर, प्रोफेसर जैसे पारंपरिक कॅरिअर आॅप्शन्स के अलावा हेल्थ सर्विस मैनेजर, लोकल गर्वन्मेंट ऑफिसर, मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव, रिक्रूटमेंट कंसल्टेंट, साइकोथैरेपिस्ट आदि के रूप में सरकारी व गैर सरकारी कंपनी में अपना योगदान दे सकते हैं। 

फिलॉसफी में स्पेशलाइजेशन 
- इस विषय की पढ़ाई के दौरान एपिस्टेमोलॉजी, एथिक्स, पॉलिटिकल फिलॉसफी, फिलॉसफी ऑफ माइंड, मेटाफिजिक्स जैसे स्पेशलाइज्ड टॉपिक्स की पढ़ाई स्टूडेंट्स करते हैं। 

रिसर्च के लिए अवसर 
यह सब्जेक्ट आपको रिसर्च में भी अच्छे मौके देता है। आईसीपीआर, इंस्टीट्यूट ऑफ फिलॉसफी, यूनिवर्सिटी ऑफ फिलॉसफिकल रिसर्च में एडमिशन लेकर इस क्षेत्र में रिसर्च कर सकते हैं। 
जितिन चावला, कॅरिअर काउंसलर 


 

Next News

रशियन लैंग्वेज सीखने से पढ़ाई, जॉब और बिजनेस में हैं कई ऑप्शन

रशियन लैंग्वेज सीखने के बाद कहां है करियर ऑप्शन - राहुल

ग्लोबल स्टेज पर बढ़ा है पुर्तगाली भाषा का स्कोप

पुर्तगाली भाषा के साथ संस्कृति को सीखने के लिए गोवा में अच्छे मौके मौजूद हैं

Array ( )