12 वीं के बाद जानिए बीए इकोनॉमिक्स, बीबीए, बीकॉम में से क्या चुनें?

कॉमर्स से बारहवीं कर रहे हैं तो आपके लिए भी डिग्री कोर्स का चयन मुश्किल हो सकता हैं।

Career Tips। बारहवीं में कॉमर्स स्ट्रीम से पढ़ाई पूरी करने वाले स्टूडेंट्स में अक्सर देखा गया है कि कॉलेज में बीबीए, बीकॉम या बीए इकोनॉमिक्स के बीच किसी एक को चुनना उनके लिए काफी मुश्किल हो जाता है। इस असमंजस की मुख्य वजह इन तीनों डिग्री कोर्सेज के बीच का फर्क समझ न आना है। ऐसे में यह जानकारी आपकी मदद कर सकती है। 

बीबीए: बैचलर आॅफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन एक अंडरग्रेजुएट डिग्री कोर्स है जो आपको बिजनेस के बेसिक नियमों की जानकारी देता है। यह डिग्री आपके लिए आंत्रप्रेन्योरशिप के अलावा एमएनसी, बीपीओ, केपीओ, कंसल्टेंसी फर्म व बैंक में सेल्स, मार्केटिंग, फाइनेंस, एचआर जैसे महत्वपूर्ण विभागों में कॅरिअर के रास्ते खोलती है। 
क्यों चुनें : अगर मैनेजमेंट फील्ड में आगे बढ़ना है या आंत्रप्रेन्योरशिप को अपनाना है तो आप बीबीए चुन सकते हैं। लेकिन ध्यान रखें कि यह प्रोफेशनल कोर्स है जिसके बाद आपको एमकॉम या एमए इकोनॉमिक्स में दाखिला नहीं मिल सकेगा। 

बीकॉम : बैचलर आॅफ कॉमर्स एक अम्ब्रेला डिग्री कोर्स है जिसके तहत कॉमर्स से जुड़े सभी सब्जेक्ट जैसे कि फाइनेंस, अकाउंटिंग, इकोनॉमिक्स, इंश्योरेंस, टैक्सेशन और मैनेजमेंट शामिल होते हैं। बीकॉम करके आप फाइनेंशियल कंसल्टेंट, इंश्योरेंस कंसल्टेंट, आॅडिटर, स्टॉक ब्रोकर, मार्केट एनालिस्ट, ऑडिटिंग के फील्ड में जॉब हासिल कर सकते हैं या अपना स्टार्टअप भी शुरू कर सकते हैं। 
क्यों चुनें : ये डिग्री आपको सीए, सीएस, सीएमए, सीएफए जैसे प्रोफेशन्स के लिए तैयार करती है। यही नहीं अगर आप कॉमर्स के फील्ड्स को लेकर कन्फ्यूज्ड हैं तो यह कोर्स आपको इस पूरे क्षेत्र की समझ देता है। 

बीए इकोनॉमिक्स : इस कोर्स में आपको इंफ्लेशन, रिसोर्स मैनेजमेंट, किसी उत्पाद के सप्लाय और डिमांड के पहलू समझाने के लिए माइक्रोइकोनॉमिक्स, मैक्रोइकोनॉमिक्स, स्टैटिस्टिक्स और इकोनोमेट्रिक्स जैसे विषय पढ़ाए जाते हैं। 
क्यों चुनें : नंबर्स में दिलचस्पी है और एनालिटिकल स्किल्स मजबूत हैं तो यह डिग्री आपके लिए है। अगर आप पब्लिक पॉलिसी, स्टॉक ब्रोकिंग, बैंकिंग, रिसर्च, टीचिंग, लॉ, एक्चूरिअल साइंस में कॅरिअर बनाना चाहते हैं या आईईएस, आईएएस, नेशनल सैंपल सर्वे, मिनिस्ट्री ऑफ इकोनॉमिक अफेयर, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक फाइनेंस जैसे फील्ड‌्स में महत्वपूर्ण पद हासिल करना चाहते हैं तो बीए इकोनॉमिक्स चुनें। 
 

Next News

एथिकल हैकिंग में भी बना सकते हैं करियर, फेसबुक, टि्वटर जैसी कंपनियों को होती हैं इनकी जरूरत

एथिकल हैकर्स सॉफ्टवेयर इंजीनियर से औसतन 2.7 गुना ज्यादा पैसा कमा रहे हैं।

मेंटल हैल्थ के क्षेत्र में शिक्षा और रोज़गार की संभावनाए, जानें क्या और कहां करनी चाहिए पढ़ाई

डॉक्टर बनने के लिए क्या करना चाहिए ? क्या और कहां पढ़ाई करनी चाहिए…यह यहां पढ़िए।

Array ( )