इतिहास में आज (24/12/2018) / 39 साल पहले सोवियत सेना का अफगान के गृहयुद्ध में दखल, इससे अमेरिका नाराज हुआ

दरअसल, मुजाहिदीन लड़ाके अफगानिस्तान की साम्यवादी सरकार का तख्ता पलटना चाहते थे।

1979- आज ही के दिन सोवियत सेना ने अफगानिस्तान के गृहयुद्ध में दखल दिया था। दरअसल, मुजाहिदीन लड़ाके अफगानिस्तान की साम्यवादी सरकार का तख्ता पलटना चाहते थे। इस सरकार को सोवियत संघ का समर्थन था। अमेरिका नहीं चाहता था कि सोवियत संघ की ताकत बढ़े। अमेरिका ने सोवियत संघ को रोकने के लिए पाकिस्तान की मदद ली। अमेरिका और
पाकिस्तान ने सोवियत सेना के खिलाफ तालिबान को खड़ा किया। हालांकि, आगे जाकर इसी तालिबान ने अमेरिका की नाक में दम कर दिया। सऊदी अरब और इराक ने भी तालिबान की आर्थिक मदद की। इन दोनों देशों के कई लड़ाके तालिबान में भर्ती हुए। आतंकी संगठनों ने सोवियत सेना की दखल को इस्लाम पर हमला बताया। मुस्लिम देशों ने तालिबान को आधुनिक
हथियार उपलब्ध कराए। इससे सोवियत सेना को झटका लगा। वह अफगानिस्तान से लौट गई।

खास : सोवियत सेना अफगान में 9 साल रही। जबकि पिछले 17 साल से अफगान में अमेरिकी सैनिक मौजूद हैं। अमेरिका ने फिर इनकी वापसी की घोषणा की है

Next News

इतिहास में आज (20/12/2018) / 94 साल पहले हिटलर जेल से रिहा हुआ था, इसके बाद वह जर्मनी का चांसलर बना

साल 1919 में हिटलर ने सेना छोड़ दी थी। उसने नाजी पार्टी का गठन किया।

Array ( )